Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jan 2023 · 1 min read

💐रे मनुष्य💐

डॉ अरुण कुमार शास्त्री 👌एक अबोध बालक 👌अरुण अतृप्त

👍 रे मनुष्य 💐

चंचलता मन की कब
साधोगे रे मनुष्य
धीरज रख कर घर बाहर
कब बांधोगे रे मनुष्य
जीवन थोड़ा सा और
काम हजारों हैं जग में
सुख की घड़ियां थोड़ी सी
और पीड़ा हैं अनगिनत
संयम रख कर वेदना को
कब निस्तारोगे रे मनुष्य
सृष्टि के सृजन कार की
तुम ही एक कृति सम्पूर्ण
तुम विवेक से काम करोगे तो
ही सब जीवों को उबारोगे रे मनुष्य
जिस दिन तुम भटके
ये भूतल भटक जाएगा
पर्यावरण संरक्षण का
सब तंत्र बिखर जाएगा
इसको हाँ हां इसको मात्र
तुम ही तो संभालोगे रे मनुष्य
चंचलता मन की कब
साधोगे रे मनुष्य
धीरज रख कर घर बाहर
कब बांधोगे रे मनुष्य
जीवन थोड़ा सा और
काम हजारों हैं जग में
सुख की घड़ियां थोड़ी सी
और पीड़ा हैं अनगिनत
संयम रख कर वेदना को
कब निस्तारोगे रे मनुष्य

93 Views
You may also like:
वो प्रकाश बन कर आई जिंदगी में
वो प्रकाश बन कर आई जिंदगी में
J_Kay Chhonkar
जीवन में कम से कम एक ऐसा दोस्त जरूर होना चाहिए ,जिससे गर सप्
जीवन में कम से कम एक ऐसा दोस्त जरूर होना...
ruby kumari
■ उत्सवी सप्ताह....
■ उत्सवी सप्ताह....
*Author प्रणय प्रभात*
दोगले मित्र
दोगले मित्र
अमरेश मिश्र 'सरल'
बेटियां
बेटियां
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जमातों में पढ़ों कलमा,
जमातों में पढ़ों कलमा,
Satish Srijan
कवित्त
कवित्त
Varun Singh Gautam
मैं जिंदगी हूं।
मैं जिंदगी हूं।
Taj Mohammad
” SALUTE TO EVERYONE ON ARMY DAY “
” SALUTE TO EVERYONE ON ARMY DAY “
DrLakshman Jha Parimal
Atma & Paramatma
Atma & Paramatma
Shyam Sundar Subramanian
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
पिता बच्चों का सम्पूर्ण इतिहाश है
पिता बच्चों का सम्पूर्ण इतिहाश है
कवि आशीष सिंह"अभ्यंत
*पुस्तक समीक्षा*
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
कानून लचर हो जहाँ,
कानून लचर हो जहाँ,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सामन्ती संस्कार
सामन्ती संस्कार
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
पालनहार
पालनहार
Buddha Prakash
विश्व गौरैया दिवस
विश्व गौरैया दिवस
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
बेटियाँ
बेटियाँ
Shailendra Aseem
💐प्रेम कौतुक-300💐
💐प्रेम कौतुक-300💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बेवफा
बेवफा
Aditya Raj
हम सजदे में कंकरों की ख़्वाहिश रखते हैं, और जिंदगी सितारे हमारे नाम लिख कर जाती है।
हम सजदे में कंकरों की ख़्वाहिश रखते हैं, और जिंदगी...
Manisha Manjari
जीत के साथ
जीत के साथ
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी एक ख़्वाब सी
जिंदगी एक ख़्वाब सी
डॉ. शिव लहरी
ग़ज़ल - इश्क़ है
ग़ज़ल - इश्क़ है
Mahendra Narayan
*अदब *
*अदब *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Daily Writing Challenge : सम्मान
Daily Writing Challenge : सम्मान
'अशांत' शेखर
ओस की बूँदें - नज़्म
ओस की बूँदें - नज़्म
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
तू मेरा मैं  तेरी हो जाऊं
तू मेरा मैं तेरी हो जाऊं
Ananya Sahu
बाहों में आसमान
बाहों में आसमान
Surinder blackpen
सच्ची कला
सच्ची कला
Shekhar Chandra Mitra
Loading...