Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jan 2023 · 1 min read

💐रामायणं तापस-प्रकरणं….💐

तदा गोश्वामीजी’इत्यस्य अंतःकरणे एषः भावः यत् यदि अहं एतस्मिन् समये भवामि तु अहम् अपि रामस्य दर्शनं करोमि।एतदृश: भावः प्रकट: अभवत् तु सः मग्न: अभवत्।ध्यानावस्थायां सः रामेण मिलति-एषः विलक्षणं घटना।यदा तस्य ध्यानं भंग: अभवत् तु सः ‘चार चौपाई’इति च एक दोहा’इति च लिखन् प्राप्त: करोति।यं हनुमान् लिखतु।
भक्त: तं सर्वदा लघु एव मन्यते।तदैव लिखतु-“लघुबयस”(अयोध्या०110/4)एतस्य सूचना विनयपत्रिकायां अस्ति।गोस्वामीजिन: सीतायां विनयां।कथयति-“कबहुँक अम्ब…………………….”इति भक्त: सर्वदा स्वयं बालकैव मन्यते।

©®अभिषेक: पाराशर”आनन्द

Language: Sanskrit
32 Views
You may also like:
భగ భగ మండే భగత్ సింగ్ రా!
భగ భగ మండే భగత్ సింగ్ రా!
विजय कुमार 'विजय'
छठ गीत (भोजपुरी)
छठ गीत (भोजपुरी)
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
इस ज़िंदगी में।
इस ज़िंदगी में।
Taj Mohammad
💐प्रेम कौतुक-239💐
💐प्रेम कौतुक-239💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
■ आज का सबक़
■ आज का सबक़
*Author प्रणय प्रभात*
बगावत का आग़ाज़
बगावत का आग़ाज़
Shekhar Chandra Mitra
मन-मंदिर में यादों के नित, दीप जलाया करता हूँ ।
मन-मंदिर में यादों के नित, दीप जलाया करता हूँ ।
Ashok deep
दर्द ए हया को दर्द से संभाला जाएगा
दर्द ए हया को दर्द से संभाला जाएगा
कवि दीपक बवेजा
प्रभु की शरण
प्रभु की शरण
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
🚩आगे बढ़,मतदान करें।
🚩आगे बढ़,मतदान करें।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अनूठी दुनिया
अनूठी दुनिया
AMRESH KUMAR VERMA
मेरी ख़्वाहिश
मेरी ख़्वाहिश
Dr fauzia Naseem shad
बनेड़ा रै इतिहास री इक झिळक.............
बनेड़ा रै इतिहास री इक झिळक.............
लक्की सिंह चौहान
✍️दरबदर भटकते रहा..
✍️दरबदर भटकते रहा..
'अशांत' शेखर
कहानी :#सम्मान
कहानी :#सम्मान
Usha Sharma
!! मुसाफिर !!
!! मुसाफिर !!
RAJA KUMAR 'CHOURASIA'
★क़त्ल ★
★क़त्ल ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
हे! राम
हे! राम
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
जीवन-गीत
जीवन-गीत
Dr. Kishan tandon kranti
यह चित्र कुछ बोलता है
यह चित्र कुछ बोलता है
राकेश कुमार राठौर
गुरु नानक का जन्मदिन
गुरु नानक का जन्मदिन
सत्य भूषण शर्मा
*कब जाने कहाँ किस ओर मुड़ना है(मुक्तक)*
*कब जाने कहाँ किस ओर मुड़ना है(मुक्तक)*
Ravi Prakash
समय पर संकल्प करना...
समय पर संकल्प करना...
Manoj Kushwaha PS
ये ज़िंदगी क्या सँवर रही….
ये ज़िंदगी क्या सँवर रही….
Rekha Drolia
दर्द तन्हाई मुहब्बत जो भी हो भरपूर होना चाहिए।
दर्द तन्हाई मुहब्बत जो भी हो भरपूर होना चाहिए।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
मनुज जन्म का गीत है गीता, गीता जीवन का सार है
मनुज जन्म का गीत है गीता, गीता जीवन का सार...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ਹਕੀਕਤ ਵਿੱਚ
ਹਕੀਕਤ ਵਿੱਚ
Surinder blackpen
बदला हुआ ज़माना है
बदला हुआ ज़माना है
Dr. Sunita Singh
गीत
गीत
Shiva Awasthi
समय
समय
Saraswati Bajpai
Loading...