Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#30 Trending Author
Apr 9, 2022 · 1 min read

💐मौज़💐

डॉ अरुण कुमार शास्त्री💐एक अबोध बालक💐अरुण अतृप्त 👌

काश बन जाता कोई मौज़ मेरे उदास मन की ।।
लहर बन कर बहा ले जाता उदासी मेरे मन की ।।

मैंने खोजे तर्क अनेकों दिल के बहलाने के लिए ।।
काश कोई एक तर्क कामयाबी का फ़लसफ़ा हो जाता ।।

दुनिया में वक़्त को लोग समझते हैं गुजरने के बाद ।।
काश मैं भी एक गुजरा वक़्त ही बन जाता दो पल के लिए ।।

तल्खियां जिंदगी की सभी को पेश आती ही होंगी ।।
हुनरमंद होंगे लोग कई बड़े बड़े जिनको हाँसिल मुक़ाम हुये ।।

तुझको भी तो आती हैं तन्हाई से लड़ने के तरीके तमाम ।।
गोया के सिर्फ हम ही को क्यूँ मिले खिताब नाकामयाबी के ।।

छोड़ देता हूँ जद्दोजहद की ज़िद्द, चलिए एय मोहब्बत।।
क्या जरूरी हैं ये खिताब इश्क़ ओ आशिक़ी की
कामयाबी के ।।

अब न जाएगा एक अबोध बालक हुस्न वालों की गली ।।
क्या रखा है अकीदतमंदों के बीच बैठ के गाल बजाने से ।।

105 Views
You may also like:
फूल और कली के बीच का संवाद (हास्य व्यंग्य)
Anamika Singh
किताब...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सत्य कभी नही मिटता
Anamika Singh
✍️I am a Laborer✍️
"अशांत" शेखर
मैं धरती पर नीर हूं निर्मल, जीवन मैं ही चलाता...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ
सूर्यकांत द्विवेदी
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
Tnmy R Shandily
पिता
कुमार अविनाश केसर
यही है भीम की महिमा
Jatashankar Prajapati
लड़के और लड़कियों मे भेद-भाव क्यों
Anamika Singh
✍️✍️बूद✍️✍️
"अशांत" शेखर
बेटी की मायका यात्रा
Ashwani Kumar Jaiswal
चार काँधे हों मयस्सर......
अश्क चिरैयाकोटी
जिंदगी क्या है?
Ram Krishan Rastogi
मै और तुम ( हास्य व्यंग )
Ram Krishan Rastogi
श्रीराम गाथा
मनोज कर्ण
पिता
Mamta Rani
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
"चैन से तो मर जाने दो"
रीतू सिंह
सलाम
Shriyansh Gupta
💐नाशवान् इच्छा एव पापस्य कारणं अविनाशी न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चुनौती
AMRESH KUMAR VERMA
लिखता जा रहा है वह
gurudeenverma198
✍️जिंदगी का फ़लसफ़ा✍️
"अशांत" शेखर
बिल्ली हारी
Jatashankar Prajapati
खुद को तुम पहचानों नारी ( भाग १)
Anamika Singh
लड्डू का भोग
Buddha Prakash
✍️प्रकृति के नियम✍️
"अशांत" शेखर
मजदूर_दिवस_पर_विशेष
संजीव शुक्ल 'सचिन'
प्रेम
Rashmi Sanjay
Loading...