Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Nov 2022 · 1 min read

💐एय मेरी ज़ाने ग़ज़ल💐

डॉ अरुण कुमार शास्त्री -एक अबोध बालक -अरुण अतृप्त
😊 एय मेरी ज़ाने ग़ज़ल😊

मेरी फितरत है कि मैं गलतियों से सीखता हूँ
दुनिया के मालिक ने भी यही दस्तूर चला रखा है ।।

बिना चोट के जो हुँनर आये उसपे सौ बार पाँव फ़िसल जाता है

ग़ज़ल का क़ायदा है कि ये बहर में लिखी जाती है
बे बहर की ग़ज़ल को वाह वाह कहाँ मिल पाती है ।

तेरी आरजू थी कभी मुझको ये बात बिल्कुल सही है
तूने किसी और को चाहा था वो बात नागवार थी मुझको।

आजकल तो तू बहुत ही उदास रहा करती है
जिसपर भरोसा था वही दिल तोड़ गया तेरा ।।

जख्म को कुरेदने से वो नासूर बन जाया करते हैं
जो गये छोड़ के वो कौन सा वापिस आया करते हैं ।।

गर इजाजत दे तो मैं अभी भी तिरा साथ निभा सकता हूँ
अल्लाह के फ़ज़ल से हम सिर्फ एक बार ही प्यार किया करते हैं ।।

मेरी फितरत है कि गलतियों से सीखता हूँ
दुनिया के मालिक ने भी यही दस्तूर चला रखा है

बिना चोट के जो हुँनर आये उसपे सौ बार पाँव फ़िसल जाता है

1 Like · 88 Views
You may also like:
मेरे करीब़ हो तुम
VINOD KUMAR CHAUHAN
वाक्यांश
Godambari Negi
स्वाधीनता आंदोलन में, मातृशक्ति ने परचम लहराया था
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अपनी नज़र में
Dr fauzia Naseem shad
बरसात
मनोज कर्ण
बाधाओं से लड़ना होगा
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
तेरी डोली से भी बेहतर
gurudeenverma198
वर्षा ऋतु में प्रेमिका की वेदना
Ram Krishan Rastogi
डॉ० रामबली मिश्र हरिहरपुरी का
Rambali Mishra
बड़ी शिकायत रहती है।
Taj Mohammad
Writing Challenge- सर्दी (Winter)
Sahityapedia
ये दिल
shabina. Naaz
नारी सृष्टि निर्माता के रूप में
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
अरदास
Buddha Prakash
पुराने सिक्के
Satish Srijan
इश्क करते रहिए
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*पत्रिका समीक्षा*
Ravi Prakash
कोई तो जाके उसे मेरे दिल का हाल समझाये...!!
Ravi Malviya
आशियाना मेरा ढह गया
Seema 'Tu hai na'
भांगड़ा पा ले
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
वफ़ा मानते रहे
Dr. Sunita Singh
मुक्ति
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
श्याम घनाक्षरी
सूर्यकांत द्विवेदी
✍️....और क्या क्या देखना बाकी है।✍️
'अशांत' शेखर
✍️✍️ये बौनी!आँखों से गोली मार रही है✍️✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
■ बदलते रिवाज़.....
*Author प्रणय प्रभात*
औरत, आज़ादी और ज़िंदगी
Shekhar Chandra Mitra
दर्दे दिल
Anamika Singh
मेरी कीमत
Seema gupta ( bloger) Gupta
अपना मुकदमा
Yash Tanha Shayar Hu
Loading...