Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 6, 2022 · 1 min read

💐उत्कर्ष💐

डॉ अरुण कुमार शास्त्री 💐एक अबोध बालक 💐अरुण अतृप्त 💐

💐उत्कर्ष💐

नारी हो सबला हो
स्वयं में सम्पूर्णा हो
निश्चय कर जब
कदम उठाओगी
निर्णायक भूमिका
निभाओगी
अब हार कहा मानोगी
रण भेद दुदुंभी बजाई है
तुम अपने जीवन
के अधिकारों के प्रति
सजग हुई हो जब से
राह छोड़ी है पुरुष
ने भी तब से
साथ लगा है निभाने
जो था कभी प्रतिद्वंद्वी
अब हार कहा मानोगी
रण भेद दुदुंभी बजाई है
नारी हो सबला हो
स्वयं में सम्पूर्णा हो
निश्चय कर जब
कदम उठाओगी
निर्णायक भूमिका
निभाओगी

1 Like · 100 Views
You may also like:
न कोई चाहत
Ray's Gupta
“ गंगा ” का सन्देश
DESH RAJ
✍️रास्ता मंज़िल का✍️
Vaishnavi Gupta
मृगतृष्णा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
💐दुर्गुणं-दुराचार: व्यसनं आदि दुष्ट: व्यक्ति: सदृश:💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️गलती ✍️
Vaishnavi Gupta
गंगा दशहरा गंगा जी के प्रकाट्य का दिन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
स्मृति चिन्ह
Shyam Sundar Subramanian
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
देखते देखते
shabina. Naaz
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ग़ज़ल- फिर देखा जाएगा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
✍️ये आज़माईश कैसी?✍️
'अशांत' शेखर
दिनेश कार्तिक
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
अनाथ
Kavita Chouhan
जब भी देखा है दूर से देखा
Anis Shah
✍️दहशत में है मजारे✍️
'अशांत' शेखर
समझता नहीं कोई
Dr fauzia Naseem shad
आईना ज़िंदगी नहीं रहती
Dr fauzia Naseem shad
“ अच्छा लगे तो स्वीकार करो ,बुरा लगे तो नज़र...
DrLakshman Jha Parimal
जिसके सीने में जिगर होता है।
Taj Mohammad
✍️✍️शिद्दत✍️✍️
'अशांत' शेखर
ईद अल अजहा
Awadhesh Saxena
बदरा कोहनाइल हवे
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
इन तन्हाइयों में तुम्हारी याद आयेगी
Ram Krishan Rastogi
एक पैगाम मित्रों के नाम
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेहमान बनकर आए और दुश्मन बन गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
# निनाद .....
Chinta netam " मन "
✍️मैं आज़ाद हूँ (??)✍️
'अशांत' शेखर
💐नाशवान् इच्छा एव पापस्य कारणं अविनाशी न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...