Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jan 2023 · 1 min read

👉आज की बात :–

😊 आज का विचार……
【विशुद्ध जलकूकड़ो के लिए】
■ अच्छे को कहें दिल से अच्छा…!
जो कुछ अच्छा दिखे, उसकी तारीफ़ दिल से होनी चाहिए। वो भी हाथों-हाथ, चार लोगों के बीच मे। मुक्त कंठ और उन्मुक्त हृदय से।क्या फ़र्क़ पड़ता है कि वो हमारा है या किसी और का। जो अच्छा है, वो अच्छा है। किसी को उलाहना देने में भेजा खपाने से बेहतर है किसी को सराहने में कलेजा दिखाना।।
यदि आप दिल की जुबान बोलने में यक़ीन रखते हों तो। दिमाग़ की ज़ुबान बोलने वाले बात को उल्टा कर के पढ़ें। शायद उल्टी खोपड़ी को वही सुहाए।।
👉प्रभात प्रणय👈

1 Like · 43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
उतरन
उतरन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"यादें"
Dr. Kishan tandon kranti
झील के ठहरे पानी में,
झील के ठहरे पानी में,
Satish Srijan
प्रणय 4
प्रणय 4
Ankita Patel
कर पुस्तक से मित्रता,
कर पुस्तक से मित्रता,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Things to learn .
Things to learn .
Nishant prakhar
😊चुनावी साल😊
😊चुनावी साल😊
*Author प्रणय प्रभात*
इश्क का रंग मेहंदी की तरह होता है धीरे - धीरे दिल और दिमाग प
इश्क का रंग मेहंदी की तरह होता है धीरे - धीरे दिल और दिमाग प
Rj Anand Prajapati
प्यार की स्टेजे (प्रक्रिया)
प्यार की स्टेजे (प्रक्रिया)
Ram Krishan Rastogi
दुनिया दिखावे पर मरती है , हम सादगी पर मरते हैं
दुनिया दिखावे पर मरती है , हम सादगी पर मरते हैं
कवि दीपक बवेजा
विश्व तुम्हारे हाथों में,
विश्व तुम्हारे हाथों में,
कुंवर बहादुर सिंह
भारत का संविधान
भारत का संविधान
Shekhar Chandra Mitra
दंगा पीड़ित कविता
दंगा पीड़ित कविता
Shyam Pandey
💐अज्ञात के प्रति-63💐
💐अज्ञात के प्रति-63💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"स्कूल चलो अभियान"
Dushyant Kumar
नेता का अभिनय बड़ा, यह नौटंकीबाज(कुंडलिया )
नेता का अभिनय बड़ा, यह नौटंकीबाज(कुंडलिया )
Ravi Prakash
चूहा और बिल्ली
चूहा और बिल्ली
Kanchan Khanna
2278.⚘पूर्णिका⚘
2278.⚘पूर्णिका⚘
Dr.Khedu Bharti
प्यार का रिश्ता
प्यार का रिश्ता
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
You cannot find me in someone else
You cannot find me in someone else
Sakshi Tripathi
धर्म वर्ण के भेद बने हैं प्रखर नाम कद काठी हैं।
धर्म वर्ण के भेद बने हैं प्रखर नाम कद काठी हैं।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
प्रभु जी हम पर कृपा करो
प्रभु जी हम पर कृपा करो
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कितनी सलाखें,
कितनी सलाखें,
Surinder blackpen
जीवन के रंगो संग घुल मिल जाए,
जीवन के रंगो संग घुल मिल जाए,
Shashi kala vyas
अगर मेरी मोहब्बत का
अगर मेरी मोहब्बत का
श्याम सिंह बिष्ट
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
मिट्टी का बस एक दिया हूँ
Chunnu Lal Gupta
संत नरसी (नरसिंह) मेहता
संत नरसी (नरसिंह) मेहता
Pravesh Shinde
“ धार्मिक असहिष्णुता ”
“ धार्मिक असहिष्णुता ”
DrLakshman Jha Parimal
रूठी बीवी को मनाने चले हो
रूठी बीवी को मनाने चले हो
Prem Farrukhabadi
बदले-बदले गाँव / (नवगीत)
बदले-बदले गाँव / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...