Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2023 · 1 min read

🎂जन्मदिन की अनंत शुभकामनाये🎂

🎂जन्मदिन की अनंत शुभकामनाये🎂

जीवन महक गया मेरा
जिस दिन से तू आया
और ..
याद हैं उस दिन का
हर क्षण हर बात
बस..
तेरे आने का था उस पल
ओर १३ को हुआ पूरा वो
इंतजार…
खुश रहे जीवन भर
बस यही प्रभु से मेरी
आस…
तुझ सा बेटा पाकर धन्य जीवन
मेरा बस रखना यूँ ही
मान..
संस्कार चले जीवन भर
बस यूँ ही तेरे साथ ये है मेरा
विश्वास…
महकता रहे चरित्र तेरा
करना ऐसे काम और कमाना
नाम…

1 Like · 83 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.

Books from Dr Manju Saini

You may also like:
मुझ को अब स्वीकार नहीं
मुझ को अब स्वीकार नहीं
Surinder blackpen
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Jeevan ke is chor pr, shanshon ke jor pr
Anu dubey
हम तेरे शरण में आए है।
हम तेरे शरण में आए है।
Buddha Prakash
2311.
2311.
Dr.Khedu Bharti
होली आयी होली आयी
होली आयी होली आयी
Rita Singh
ठंडा - वंडा,  काफ़ी - वाफी
ठंडा - वंडा, काफ़ी - वाफी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
टिकोरा
टिकोरा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
💐💐यहाँ से अब सफ़र .........💐💐
💐💐यहाँ से अब सफ़र .........💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कोरोना महामारी
कोरोना महामारी
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि ’
सुख के क्षणों में हम दिल खोलकर हँस लेते हैं, लोगों से जी भरक
सुख के क्षणों में हम दिल खोलकर हँस लेते हैं, लोगों से जी भरक
ruby kumari
उसने किरदार ठीक से नहीं निभाया अपना
उसने किरदार ठीक से नहीं निभाया अपना
कवि दीपक बवेजा
मातृदिवस
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
आ जाओ घर साजना
आ जाओ घर साजना
लक्ष्मी सिंह
तुमको ख़त में क्या लिखूं..?
तुमको ख़त में क्या लिखूं..?
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
ज़िन्दगी की राह
ज़िन्दगी की राह
Sidhartha Mishra
शाकाहारी जिंदगी, समझो गुण की खान (कुंडलिया)
शाकाहारी जिंदगी, समझो गुण की खान (कुंडलिया)
Ravi Prakash
आख़री तकिया कलाम
आख़री तकिया कलाम
Rohit yadav
दुनियां की लिहाज़ में हर सपना टूट के बिखर जाता है
दुनियां की लिहाज़ में हर सपना टूट के बिखर जाता है
'अशांत' शेखर
लक्ष्य हासिल करना उतना सहज नहीं जितना उसके पूर्ति के लिए अभि
लक्ष्य हासिल करना उतना सहज नहीं जितना उसके पूर्ति के लिए अभि
Nav Lekhika
हिटलर
हिटलर
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
लफ़्ज़ों में हमनें
लफ़्ज़ों में हमनें
Dr fauzia Naseem shad
साँवरिया तुम कब आओगे
साँवरिया तुम कब आओगे
Kavita Chouhan
जागृति और संकल्प , जीवन के रूपांतरण का आधार
जागृति और संकल्प , जीवन के रूपांतरण का आधार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मजदूर की बरसात
मजदूर की बरसात
goutam shaw
✍️गहरी बात✍️
✍️गहरी बात✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
आनंद
आनंद
RAKESH RAKESH
ऐ नौजवानों!
ऐ नौजवानों!
Shekhar Chandra Mitra
है ख्वाहिश गर तेरे दिल में,
है ख्वाहिश गर तेरे दिल में,
Satish Srijan
मेरी प्यारी कविता
मेरी प्यारी कविता
Ms.Ankit Halke jha
माँ शारदे...
माँ शारदे...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...