Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

🌺🍀दोषा: च एतेषां सत्ता🍀🌺

ये अपि दोषा: सन्ति,सर्वे नष्ट: प्रायः।काम-क्रोधादि सर्वे दोषा: आगन्तुक: सन्ति।स्थायी न।भवन्त: एव तान् सत्ता च महत्ता च प्रदानं करोति।दोषः भवति न-एषः वार्ता साधकानां कृते बहु सिद्ध:।तान् स्थानाच्युत: प्रयासः एतेषां सत्तां दृढ कुर्वन्।अतः तान् स्थानाच्युत प्रयासः न कृत्वा एतेषां सत्तां मन्यते।निर्दोषता स्वीकारः कृत्वा तत्वस्य प्राप्ति: अभवत्।सर्वेषां आत्मा निर्दोष:।निर्दोषता स्वतः सिद्ध:।अतः स्वं च अन्यं च दोषी मननं त्रुटि:।
©®अभिषेक:पाराशरः

47 Views
You may also like:
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
पल
sangeeta beniwal
बरसात आई झूम के...
Buddha Prakash
#पूज्य पिता जी
आर.एस. 'प्रीतम'
संविदा की नौकरी का दर्द
आकाश महेशपुरी
वो बरगद का पेड़
Shiwanshu Upadhyay
जीवन-रथ के सारथि_पिता
मनोज कर्ण
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
दर्द इतने बुरे नहीं होते
Dr fauzia Naseem shad
इंतजार
Anamika Singh
आज तन्हा है हर कोई
Anamika Singh
पेशकश पर
Dr fauzia Naseem shad
आज अपना सुधार लो
Anamika Singh
ओ मेरे साथी ! देखो
Anamika Singh
पिता है भावनाओं का समंदर।
Taj Mohammad
कोई हमदर्द हो गरीबी का
Dr fauzia Naseem shad
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
मेरी अभिलाषा
Anamika Singh
भोर का नवगीत / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️ईश्वर का साथ ✍️
Vaishnavi Gupta
जागो राजू, जागो...
मनोज कर्ण
पापा आपकी बहुत याद आती है !
Kuldeep mishra (KD)
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
राखी-बंँधवाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
मेरी उम्मीद
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
।। मेरे तात ।।
Akash Yadav
इंसानियत का एहसास भी
Dr fauzia Naseem shad
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
छोड़ दो बांटना
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
समय ।
Kanchan sarda Malu
Loading...