Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

🌺🌻🌷तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो🌺🌻🌷

तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो,
अपनी यादों के संग चले आया करो,
बहती है हवा तो अपने ही ख़्याल में,
चाँद की चाँदनी है अपने जमाल में,
मेरी फ़ितरत पर इतने सवाल न करो,
तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो,
अपनी यादों के संग ………………
रातें हैं दिन की सबसे बड़ी गवाह,
हर शाम के बाद होती है फ़ानी सुबह,
हर क़िस्मत पर रंज ढहाते हैं क़हर,
अब मुझे इतना उदास न करो,
तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो,
अपनी यादों के संग ………………
रेत जैसी जिन्दगी उछाल कर तो देख,
ग़म की बादशाही में मुस्कराकर तो देख,
सफ़ीने तो डूबेंगे जब छेद होंगे,
अपने एहसानों को मुझ पर उधार न करो,
तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो,
अपनी यादों के संग ………………

©अभिषेक: पाराशर:
जमाल-सुन्दरता
सफ़ीने-नाव
फ़ितरत-प्रकृति

1 Like · 1 Comment · 100 Views
You may also like:
दिनेश कार्तिक
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
लहरों का आलाप ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तपों की बारिश (समसामयिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Only for L
श्याम सिंह बिष्ट
अगर ज़रा भी हो इश्क मुझसे, मुझे नज़र से दिखा...
सत्य कुमार प्रेमी
संकोच - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
पत्थर के भगवान
Ashish Kumar
✍️मेरा जिक्र हुवा✍️
"अशांत" शेखर
अल्फाज़ हैं शिफा से।
Taj Mohammad
कौन थाम लेता है ?
DESH RAJ
ईद की दिली मुबारक बाद
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गनर यज्ञ (हास्य-व्यंग)
दुष्यन्त 'बाबा'
आंधी में दीया
Shekhar Chandra Mitra
आज अब्र भी कबसे बरस रहा है।
Taj Mohammad
A cup of tea ☕
Buddha Prakash
जाने क्या-क्या ? / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
शिक्षा संग यदि हुनर हो...
मनोज कर्ण
पिता
रिपुदमन झा "पिनाकी"
" शीतल कूलर
Dr Meenu Poonia
सुबह - सवेरा
AMRESH KUMAR VERMA
✍️दिल बहल जाता है।✍️
"अशांत" शेखर
इश्क के मारे है।
Taj Mohammad
मेरे पापा जैसे कोई....... है न ख़ुदा
Nitu Sah
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
मुक्तक- जो लड़ना भूल जाते हैं...
आकाश महेशपुरी
सौ प्रतिशत
Dr Archana Gupta
मत भूलो देशवासियों.!
Prabhudayal Raniwal
*!* सोच नहीं कमजोर है तू *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
**अनमोल मोती**
Dr. Alpa H. Amin
Loading...