Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jan 2023 · 1 min read

🌸🌺उन्होंने इश्क़ की क़ीमत तय कर दी🌺🌸

##मणिकर्णिका##
##तुम्हें तो यहीं जाना है##
##बौनी,बौनी बौनी##
##ऐसे गीत तो पहले से ही लिखते आ रहे हैं##
##मोटिवेशन तो शौच के समय भी रहता है##
##इतना ही, समझी रूपा😂🤣😉##
##अपना ध्यान रखना##
##कमरे में कोई है,ससससस कोई है##

उन्होंने इश्क़ की क़ीमत तय कर दी,
उन्होनें इश्क़ की क़ीमत तय कर दी,
इंसान बनना बहुत ही कठिन है,
उससे ज़्यादा बुरा है खुदगर्ज़ होना,
‘कमी तुम्हारी है’पहचान सके ना,
‘हो तुम दुनिया में’लगे जैसे न होना,
उन्होंने साँसों की कैफ़ियत तय कर दी,
उन्होंने इश्क़ की क़ीमत तय कर दी।।1।।
बोलकर भी हम ख़ुद को ख़ामोश माने,
सब जानकर भी वो कहे हम न जाने,
कितनी ओटें बनाता देखने के लिए,
‘शायद मैं था बुरा’गए कहीं वो समाने,
उन्होंने उदासी की हद तय कर दी,
उन्होंने इश्क़ की क़ीमत तय कर दी।।2।।
इबादत के परिन्दे, सुकूँ की निगाहें,
अब वो हमको निवाहें, हम उनको निवाहें,
केवल दूरी ही है और वजह तुम हो,
क्यों फैला रखी हैं ये छोटी सी राहें?
बिना तस्दीक़ कर हर बात तय कर दी,
उन्होंने इश्क़ की क़ीमत तय कर दी।।3।।
बयानों की खेती ख़्यालों से जोती,
बताओ किसके बने अश्क़ जमाने में मोती,
मैं चलता गया,चलता गया पर रुका कब?
ये बदली हुई उनकी निगाहें न होती,
उन्होंने बिना मिले ही सोहबत तय कर दी,
उन्होंने इश्क़ की क़ीमत तय कर दी।।4।।
©®अभिषेक: पाराशरः’आनन्द’

Language: Hindi
Tag: गीत
42 Views
You may also like:
देता मगर न वोट , अश्रु से रोता नेता (हास्य कुंडलिया)
देता मगर न वोट , अश्रु से रोता नेता (हास्य...
Ravi Prakash
जीवन का हर वो पहलु सरल है
जीवन का हर वो पहलु सरल है
'अशांत' शेखर
कोई उपहास उड़ाए ...उड़ाने दो
कोई उपहास उड़ाए ...उड़ाने दो
ruby kumari
मैल
मैल
Gaurav Sharma
You are not born
You are not born
Vandana maurya
जिये
जिये
विजय कुमार नामदेव
شعر
شعر
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
संत साईं बाबा
संत साईं बाबा
Pravesh Shinde
धन की देवी
धन की देवी
कुंदन सिंह बिहारी
विचारमंच भाग -3
विचारमंच भाग -3
Rohit Kaushik
चांद कहां रहते हो तुम
चांद कहां रहते हो तुम
Surinder blackpen
💐प्रेम कौतुक-198💐
💐प्रेम कौतुक-198💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चली चली रे रेलगाड़ी
चली चली रे रेलगाड़ी
Ashish Kumar
Happy Holi
Happy Holi
अनिल अहिरवार"अबीर"
अस्तित्व है उसका
अस्तित्व है उसका
Dr fauzia Naseem shad
संत गाडगे सिध्दांत
संत गाडगे सिध्दांत
Vijay kannauje
व्यवस्था परिवर्तन
व्यवस्था परिवर्तन
Shekhar Chandra Mitra
ऋतु बसन्त आने पर
ऋतु बसन्त आने पर
gurudeenverma198
दुर्गा मां से प्रार्थना
दुर्गा मां से प्रार्थना
Dr.sima
*मेरे देश का सैनिक*
*मेरे देश का सैनिक*
Prabhudayal Raniwal
Mera wajud bus itna hai ,
Mera wajud bus itna hai ,
Sakshi Tripathi
मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम
मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम
Er.Navaneet R Shandily
बीती जिंदगी।
बीती जिंदगी।
Taj Mohammad
सुबह वक्त पर नींद खुलती नहीं
सुबह वक्त पर नींद खुलती नहीं
शिव प्रताप लोधी
पत्नीजी मायके गयी,
पत्नीजी मायके गयी,
Satish Srijan
शरीक-ए-ग़म
शरीक-ए-ग़म
Shyam Sundar Subramanian
■ लघुकथा / पशु कौन...?
■ लघुकथा / पशु कौन...?
*Author प्रणय प्रभात*
सिर्फ टी डी एस काट के!
सिर्फ टी डी एस काट के!
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
चिरनिन्द्रा
चिरनिन्द्रा
विनोद सिल्ला
रंग भी रंगीन होते है तुम्हे छूकर
रंग भी रंगीन होते है तुम्हे छूकर
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Loading...