Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Mar 2023 · 1 min read

🌸हास्य रस घनाक्षरी🌸

🌸हास्य रस घनाक्षरी🌸
☘ ससुराल ☘
——————————-

सबसे मधुर नहीं होता कोई होटल है
सबसे मधुर नहीं हुआ नैनीताल है
मधुर न पिता और माता भाई-बहने हैं
मधुर न घर चाहे कितना विशाल है
मधुर हैं सास और ससुर के चंद्रमुख
मधुर परोसा हुआ सालियों का थाल है
मिलता न स्वर्ग यह कहीं और दुर्लभ
हुई सबसे मधुर बस ससुराल है

रचयिता : रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा
रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल .9997615451

282 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
जब तुम मिलीं - एक दोस्त से सालों बाद मुलाकात होने पर ।
जब तुम मिलीं - एक दोस्त से सालों बाद मुलाकात होने पर ।
Dhriti Mishra
हों कामयाबियों के किस्से कहाँ फिर...
हों कामयाबियों के किस्से कहाँ फिर...
सिद्धार्थ गोरखपुरी
धर्म अधर्म
धर्म अधर्म
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
पहले तेरे हाथों पर
पहले तेरे हाथों पर
The_dk_poetry
"मनभावन मधुमास"
Ekta chitrangini
हर युग में जय जय कार
हर युग में जय जय कार
जगदीश लववंशी
जीवन की सच्चाई
जीवन की सच्चाई
Sidhartha Mishra
(19)
(19)
Dr fauzia Naseem shad
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Dr.Priya Soni Khare
एक खास याद 'बापू' के नाम
एक खास याद 'बापू' के नाम
Seema 'Tu hai na'
चमचे और चिमटे जैसा स्कोप
चमचे और चिमटे जैसा स्कोप
*Author प्रणय प्रभात*
पराधीन पक्षी की सोच
पराधीन पक्षी की सोच
AMRESH KUMAR VERMA
कोशिशें अभी बाकी हैं।
कोशिशें अभी बाकी हैं।
Gouri tiwari
खुशियों का दौर गया , चाहतों का दौर गया
खुशियों का दौर गया , चाहतों का दौर गया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
💐प्रेम की राह पर-56💐💐
💐प्रेम की राह पर-56💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सफलता के बीज बोने का सर्वोत्तम समय
सफलता के बीज बोने का सर्वोत्तम समय
Paras Nath Jha
Alahda tu bhi nhi mujhse,
Alahda tu bhi nhi mujhse,
Sakshi Tripathi
You can't AFFORD me
You can't AFFORD me
Vandana maurya
अजीब है भारत के लोग,
अजीब है भारत के लोग,
जय लगन कुमार हैप्पी
वह ठहर जाएगा ❤️
वह ठहर जाएगा ❤️
Rohit yadav
✍️Happy Friendship Day✍️
✍️Happy Friendship Day✍️
'अशांत' शेखर
हिंदी
हिंदी
Satish Srijan
गीतिका-* (रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएँ)
गीतिका-* (रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएँ)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तुम भी 2000 के नोट की तरह निकले,
तुम भी 2000 के नोट की तरह निकले,
Vishal babu (vishu)
मेरा नाम
मेरा नाम
Yash mehra
“ मेरे राम ”
“ मेरे राम ”
DESH RAJ
हक
हक
shabina. Naaz
Writing Challenge- सपना (Dream)
Writing Challenge- सपना (Dream)
Sahityapedia
अर्धनारीश्वर की अवधारणा...?
अर्धनारीश्वर की अवधारणा...?
मनोज कर्ण
*भरा हुआ सबके हृदयों में, सबके ही प्रति प्यार हो (गीत)*
*भरा हुआ सबके हृदयों में, सबके ही प्रति प्यार हो (गीत)*
Ravi Prakash
Loading...