Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jan 2023 · 1 min read

𝖎 𝖑𝖔𝖛𝖊 𝖚✍️

वो कहने वाली थीं,𝖑𝖔𝖛𝖊 𝖚
मैं अब तक ना, ये समझा क्यूँ
वो जान मानती रही हमेशा
था मैं पगला, अंजाना क्यूँ
𝖇𝖚𝖙,आज समय ने समझाया
चल अब मैं तुझसे कहता हूँ
मैं तेरा ही था पहले से
अब 𝖆𝖑𝖜𝖆𝖄𝖘,तुम्हारा होता हूँ
तू रूठ ना जाना मुझसे यूँ
दिल की धड़कन रुक जाती है
हर रात चकोरी चंदा संग,
हर बार कहाँ से आती है
अब तुमको कैसे समझाऊं
अल्फाज़ हैं मेरे,𝖑𝖔𝖛𝖊 𝖚 𝖙𝖔
तू जान मानती रही हमेशा
था मैं पगला अंजाना क्यूँ
… 𝖇𝖍𝖆𝖓𝖉𝖆𝖗𝖎 𝖑𝖐✍️

1 Like · 49 Views
You may also like:
दोष दृष्टि क्या है ?
दोष दृष्टि क्या है ?
Shivkumar Bilagrami
याद तो बहुत करते हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर।
याद तो बहुत करते हैं लेकिन जरूरत पड़ने पर।
Gouri tiwari
!!! हार नहीं मान लेना है !!!
!!! हार नहीं मान लेना है !!!
जगदीश लववंशी
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*Author प्रणय प्रभात*
लव मैरिजvsअरेंज मैरिज
लव मैरिजvsअरेंज मैरिज
Satish Srijan
अँगना में कोसिया भरावेली
अँगना में कोसिया भरावेली
संजीव शुक्ल 'सचिन'
सत्य विचार (पंचचामर छंद)
सत्य विचार (पंचचामर छंद)
Rambali Mishra
सुबह सुहानी आपकी, बने शाम रंगीन।
सुबह सुहानी आपकी, बने शाम रंगीन।
आर.एस. 'प्रीतम'
ग़ज़ल /
ग़ज़ल /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
🙏मॉं कात्यायनी🙏
🙏मॉं कात्यायनी🙏
पंकज कुमार कर्ण
आने वाला कल दुनिया में, मुसीबतों का कल होगा
आने वाला कल दुनिया में, मुसीबतों का कल होगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गीता के स्वर (1) कशमकश
गीता के स्वर (1) कशमकश
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
💐प्रेम कौतुक-500💐
💐प्रेम कौतुक-500💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अंदर का चोर
अंदर का चोर
Shyam Sundar Subramanian
अपना नैनीताल...
अपना नैनीताल...
डॉ.सीमा अग्रवाल
तू बेमिसाल है
तू बेमिसाल है
shabina. Naaz
✍️हौसले भी कहाँ कम मिलते है
✍️हौसले भी कहाँ कम मिलते है
'अशांत' शेखर
हुस्न वालों से ना पूछो गुरूर कितना है ।
हुस्न वालों से ना पूछो गुरूर कितना है ।
Prabhu Nath Chaturvedi
हाथ माखन होठ बंशी से सजाया आपने।
हाथ माखन होठ बंशी से सजाया आपने।
लक्ष्मी सिंह
शेर
शेर
Rajiv Vishal
काश!
काश!
Rashmi Sanjay
कैसी-कैसी हसरत पाले बैठे हैं
कैसी-कैसी हसरत पाले बैठे हैं
विनोद सिल्ला
प्रेम में पड़े हुए प्रेमी जोड़े
प्रेम में पड़े हुए प्रेमी जोड़े
श्याम सिंह बिष्ट
भोजपुरी भाषा
भोजपुरी भाषा
Er.Navaneet R Shandily
फूल है और मेरा चेहरा है
फूल है और मेरा चेहरा है
Dr fauzia Naseem shad
300 वर्ष की आयु : आश्चर्यजनक किंतु सत्य (लेख)
300 वर्ष की आयु : आश्चर्यजनक किंतु सत्य (लेख)
Ravi Prakash
रुतबा
रुतबा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आदमी तनहा दिखाई दे
आदमी तनहा दिखाई दे
Dr. Sunita Singh
औरतों का इंकलाब
औरतों का इंकलाब
Shekhar Chandra Mitra
२४२. पर्व अनोखा
२४२. पर्व अनोखा
MSW Sunil SainiCENA
Loading...