Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

【अश्रुरूपी गीतों की बरसात】

तेरे गीतों की,मेरे आँखों से बरसातें होतीं हैं,
संसार से आती हैं जो आवाजें,
तुझे ही खोजता हूँ अपने मन से,
जो ख़्याल बनकर, लफ्ज़ बने,
उन्ही लफ्जों में तेरी मूरत होती है
तेरे गीतों की,मेरे आँखों से बरसातें होतीं हैं।।1।।

जो कुछ है इस जगत में,
सब कुछ तेरा ही तो है,
यहाँ केवल तू ही है मेरा,
तेरे नाम पर ही सुबह शाम होती है,
तेरे गीतों की,मेरे आँखों से बरसातें होतीं हैं।।2।।

तू समुन्दर है मैं तो दरिया हूँ,
तेरे ही जज़्ब से मिलूँगा तुझमें,
उससे पहले तो जाइज़ा कर ले मेरा,
तुझमें मिलकर हर हस्ती गुमनाम होती है,
तेरे गीतों की,मेरे आँखों से बरसातें होतीं हैं।।3।।

यह जुस्तजू रहेगी,तुझे पाने की,
चाहूँगा तेरी चौखट पर मेरा दम निकले,
अपनी रमक़ तक याद करूंगा तुझको,
जैसे एक योगी की कैफ़ियत होती है,
तेरे गीतों की,मेरे आँखों से बरसातें होतीं हैं।।4।।

©अभिषेक पाराशर?????

3 Likes · 3 Comments · 243 Views
You may also like:
प्रेम रस रिमझिम बरस
श्री रमण 'श्रीपद्'
परिवार
सूर्यकांत द्विवेदी
दुनिया
Rashmi Sanjay
कर रहे शुभकामना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
माटी के पुतले
AMRESH KUMAR VERMA
✍️बचपन था जादुई चिराग✍️
'अशांत' शेखर
शंकर छंद और विधाएँ
Subhash Singhai
Oh dear... don't fear.
Taj Mohammad
लाइलाज़
Seema 'Tu haina'
यह इश्क है।
Taj Mohammad
मुखौटा
संदीप सागर (चिराग)
सच और झूठ
श्री रमण 'श्रीपद्'
*रक्षा भारत की करें (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
घुटने टेके नर, कुत्ती से हीन दिख रहा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जो देखें उसमें
Dr.sima
कैसी भी हो शराब।
Taj Mohammad
सुनो ना
shabina. Naaz
गम तेरे थे।
Taj Mohammad
ग़ज़ल कहूँ तो मैं असद
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
साथ समय के चलना सीखो...
डॉ.सीमा अग्रवाल
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
“ जालंधर केंट टू अमृतसर ” ( यात्रा संस्मरण )
DrLakshman Jha Parimal
नदियों का दर्द
Anamika Singh
पीयूष छंद-पिताजी का योगदान
asha0963
उसे चाहना
Nitu Sah
नसीब
DESH RAJ
मैं पिता हूं।
Taj Mohammad
बेचैन कागज
Dr Meenu Poonia
प्यार का अलख
DESH RAJ
नारा ए आज़ादी से गूंजा सारा हिंदुस्तां है।
Taj Mohammad
Loading...