Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Aug 2022 · 1 min read

✍️हिसाब ✍️

रिश्तेदारों की छोटी- मोटी लिस्ट नहीं,
पूरी किताब रखते है,
किसने कब अपनी असलियत दिखाई,
सबका हिसाब रखते है।

✍️वैष्णवी गुप्ता
कौशांबी

Language: Hindi
6 Likes · 4 Comments · 157 Views
You may also like:
तुमने वफा न निभाया
Anamika Singh
$दोहे- सुबह की सैर पर
आर.एस. 'प्रीतम'
जीवनमंथन
Shyam Sundar Subramanian
किताब।
Amber Srivastava
मदिरा और मैं
Sidhant Sharma
जिन्दगी एक तमन्ना है
Buddha Prakash
आदिवासी
Shekhar Chandra Mitra
" PILLARS OF FRIENDSHIP "
DrLakshman Jha Parimal
आयेगी मौत तो
Dr fauzia Naseem shad
ए. और. ये , पंचमाक्षर , अनुस्वार / अनुनासिक ,...
Subhash Singhai
दोहे मेरे मन के
लक्ष्मी सिंह
मित्रता दिवस
Dr Archana Gupta
"वृद्धाश्रम" कहानी लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत, गुजरात।
radhakishan Mundhra
काव्य संग्रह से
Rishi Kumar Prabhakar
जिज्ञासा
Rj Anand Prajapati
✍️मी परत शुन्य होणार नाही..!✍️
'अशांत' शेखर
सृजन कर्ता है पिता।
Taj Mohammad
हरि चंदन बन जाये मिट्टी
Dr. Sunita Singh
नगर विकास राज्यमंत्री श्री महेश गुप्ता की सराहनीय सक्रियता
Ravi Prakash
You Have Denied Visiting Me In The Dreams
Manisha Manjari
ख्वाबों से हकीकत
shabina. Naaz
खुशियाँ ही अपनी हैं
विजय कुमार अग्रवाल
के के की याद में ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
मत्तगयंद सवैया छंद
संजीव शुक्ल 'सचिन'
सियासी चालें गहरी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
एक सुबह की किरण
Deepak Baweja
परमात्मनः प्राप्तया: स्थानं हृदयम्
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:36
AJAY AMITABH SUMAN
नारियां
AMRESH KUMAR VERMA
आंसू
Harshvardhan "आवारा"
Loading...