Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Sep 2022 · 1 min read

✍️बड़ी ज़िम्मेदारी है ✍️

खत्म हुआ स्कूल का दौर,
अब कॉलेज की बारी है,
जिसको बिगड़ना है बिगड़े,
हम पढ़ेंगे,
हमारे सर पे बड़ी ज़िम्मेदारी है।

✍️वैष्णवी गुप्ता
कौशांबी

Language: Hindi
Tag: शेर
7 Likes · 8 Comments · 115 Views
You may also like:
आस्तीक भाग -दस
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*नहीं फेंके अब भोजन (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
माँ शैलपुत्री
Vandana Namdev
💐प्रेम की राह पर-25💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कौन आएगा
Dhirendra Panchal
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
लाज नहीं लूटने दूंगा
कृष्णकांत गुर्जर
अंजाम ए जिंदगी
ओनिका सेतिया 'अनु '
चौपाई छंद में सौलह मात्राओं का सही गठन
Subhash Singhai
मन पीर कैसे सहूँ
Dr. Sunita Singh
【20】 ** भाई - भाई का प्यार खो गया **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कुछ न कुछ छूटना तो लाज़मी है।
Rakesh Bahanwal
हम अपने मन की किस अवस्था में हैं
Shivkumar Bilagrami
शतरंज की चाल
Shekhar Chandra Mitra
फ़नकार समझते हैं Ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
जल
मनोज कर्ण
रूठ जाने लगे हैं
Gouri tiwari
दुर्गा पूजा विषर्जन
Rupesh Thakur
दिवाली शुभ होवे
Vindhya Prakash Mishra
मेरी छवि
Anamika Singh
मोरे सैंया
DESH RAJ
ये किस धर्म के लोग है
gurudeenverma198
शेर
Rajiv Vishal
ग़ज़ल- राना सवाल रखता है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
✍️सच बता कर तो देखो ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
प्यार की बातें कर मेरे प्यारे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
इंसान जिन्हें कहते
Dr fauzia Naseem shad
तेरा रूतबा है बड़ा।
Taj Mohammad
आज नहीं तो कल होगा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
✍️जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
Loading...