Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author

✍️पुरानी रसोई✍️

✍️पुरानी रसोई✍️
………………………………………//
बचपन की रसोई मुझे याद है
वो पितल की थालियां
वो पितल की प्यालियां
दीवाल पर टंगी लकड़ी के
पाट पर सजी होती थी ।
थोड़े से बर्तन पूरे परिवार की
भूख और प्यास का ध्यान रखते थे।
मिट्टी के घर में मिट्टी का चूल्हा
उसके तीन खंदो पर हम सबका पेट पला।
चूल्हे का मुँह मुझे किसी किले के
महाद्वार जैसा प्रतीत होता था।

मिट्टी की सौंधी सौंधी खुशबु
चूल्हे पर ज्वार की रोटी सेंकती माँ
और थाली में परोसा बैंगनी भुर्ता
भूख की तड़प ऐसी बढाती थी
जैसे कही दिन से पेट खाली है…

वो रसोई के चूल्हे में धधकती आग
अब गैस की लाइटर में सिकुड़ गयी है।
मेरी पुरानी रसोई की तस्वीर देखकर
मॉड्यूलर किचन कैसे अकड़ गयी है।
पर वो नहीं जानती जायका चूल्हों का।
उसी रसोई में मिलन होता घर के दिलों का।
………………………………………………………//
✍️”अशांत”शेखर✍️
24/06/2022

2 Likes · 4 Comments · 53 Views
You may also like:
✍️चीरफाड़✍️
'अशांत' शेखर
✍️पैरो तले ज़मी✍️
'अशांत' शेखर
माँ की परिभाषा मैं दूँ कैसे?
Jyoti Khari
आंधियां आती हैं सबके हिस्से में, ये तथ्य तू कैसे...
Manisha Manjari
हर गम को ही सह लूंगा।
Taj Mohammad
✍️नशा और शौक✍️
'अशांत' शेखर
सौगंध
Shriyansh Gupta
मातृशक्ति को नमन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
लाल टोपी
मनोज कर्ण
श्रावण गीत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हवस
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
पिता घर की पहचान
vivek.31priyanka
ये कैंसी अभिव्यक्ति है, ये कैसी आज़ादी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
The moon descended into the lake.
Manisha Manjari
जान से प्यारा तिरंगा
डॉ. शिव लहरी
खुदा बना दे।
Taj Mohammad
"राधे राधे"
साहित्य गौरव
रोटी संग मरते देखा
शेख़ जाफ़र खान
पुस्तक समीक्षा *तुम्हारे नेह के बल से (काव्य संग्रह)*
Ravi Prakash
दो पल का जिंदगानी...
AMRESH KUMAR VERMA
✍️तो ऐसा नहीं होता✍️
'अशांत' शेखर
आओ तुम
sangeeta beniwal
#दोहे #अवधेश_के_दोहे
Awadhesh Saxena
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस
Ram Krishan Rastogi
अगर प्यार करते हो मुझको
Ram Krishan Rastogi
फूलों का नया शौक पाला है।
Taj Mohammad
धरा करे मनुहार…
Rekha Drolia
मां के आंचल
Nitu Sah
शमा से...!!!
Kanchan Khanna
Loading...