Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#11 Trending Author

✍️नियत में जा’ल रहा✍️

✍️नियत में जा’ल रहा✍️
……………………………………………………………//
ये कैसा इँसा है अंधे स्वार्थ में ईश्वर बदल रहा
इँसा की सरकशी से खुद खुदा भी बदल रहा

हमने इंसान में उस आदिल खुदा को देखा है
ऐसे खुदाओ का इंसान को कहाँ ख़याल रहा

अब्तर इंसानियत के लिये आजिम लड़ते रहे
उनके सोच का इँसा पर अमलन जलाल रहा

यहाँ इँसा तो अमरत्व प्राप्त करने के जिद में है
औरो को ज़हर पिलाने का उसे ना मलाल रहा

ये बुद्ध कबीर वाणी आदमियत की धरोहर रही
‘अशांत’ जुबाँ तो मिठी रही नियत में जा’ल रहा
…………………………………………………………..…//
✍️”अशांत”शेखर✍️
16/07/2022,

*सरकशी-दुष्टता
*आदिल-सच्चा नेक
*अब्तर = नष्ट,बिखारा हुआ, मूल्यहीन
*आज़िम -दृढ़ता, सुनिश्चित
*अमलन – यथार्थ में, सच में, सत्यता पूर्वक
*जलाल – प्रताप, तेज, विशालता
*मलाल-पश्चाताप,रंज
*जा’ल = नकली

1 Like · 4 Comments · 43 Views
You may also like:
शराफत में इसको मुहब्बत लिखेंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
समय का सदुपयोग
Anamika Singh
उड़ी पतंग
Buddha Prakash
अचार का स्वाद
Buddha Prakash
अमावस के जैसा अंधेरा है इस दिल में,
Vaishnavi Gupta
शब्दों के एहसास गुम से जाते हैं।
Manisha Manjari
गर्दिशे जहाँ पा गये।
Taj Mohammad
मजदूर.....
Chandra Prakash Patel
अबके सावन लौट आओ
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*ससुराला : ( काव्य ) वसंत जमशेदपुरी*
Ravi Prakash
ये खुशी
Anamika Singh
यह दुनिया है कैसी
gurudeenverma198
मोहब्बत ही आजकल कम हैं
Dr.sima
गंगा से है प्रेमभाव गर
VINOD KUMAR CHAUHAN
*अनुशासन के पर्याय अध्यापक श्री लाल सिंह जी : शत...
Ravi Prakash
एहसासात
Shyam Sundar Subramanian
रूह को कैसे सजाओगे।
Taj Mohammad
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH
*भादो की शुभ अष्टमी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
'ख़त'
Godambari Negi
बेटी का पत्र माँ के नाम (भाग २)
Anamika Singh
ब्रेकिंग न्यूज़
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पत्नि जो कहे,वह सब जायज़ है
Ram Krishan Rastogi
“ हृदयक गप्प ”
DrLakshman Jha Parimal
तुम्हें जन्मदिन मुबारक हो
gurudeenverma198
बुद्ध पूर्णिमा पर तीन मुक्तक।
Anamika Singh
हमारी जां।
Taj Mohammad
'जिंदगी'
Godambari Negi
सुन री पवन।
Taj Mohammad
मतदान का दौर
Anamika Singh
Loading...