Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#6 Trending Author

✍️चाँद में रोटी✍️

✍️चाँद में रोटी✍️
…………………………………………………………//
मुझे मेरे जैसा ही दिखता है ओर कोई..!
आईने में तो मैं हूं दिखता है ओर कोई..?

चाँद में रोटी का अक़्स देखता है वो बच्चा
भूख की तड़प को यहाँ बेचता है ओर कोई

सजाकर गया था अश्क़ को आँखों में कोई
चंद खुशियों के लिए फुसलाता है ओर कोई

रो पड़े है नासाझ जेहेन में ये बेसुरे साजोसुर
मेरे इन गीतों से अंदर कराहता है ओर कोई

तेज आँधी में शज़र पे बने घरौंदे बचाता रहा मैं
ये मौसम में कैसा है ख़लल,गिराता है ओर कोई

‘अशांत’हँसकर उठाये है जिंदगी के बोझ सारे
इन कंधों पे सर रखकर यूँही रोता है ओर कोई
…………………………………………………………………//
✍️”अशांत”शेखर✍️
11/07/2022

2 Likes · 4 Comments · 57 Views
You may also like:
गंगा माँ
Anamika Singh
*कॉंवड़ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
साथ तुम्हारा
Rashmi Sanjay
✍️हिटलर अभी जिंदा है...✍️
"अशांत" शेखर
Gazal
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐💐शरणागतस्य सर्वाणि कार्याणि परमात्मना भवन्ति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुम्हारे माता-पिता
Saraswati Bajpai
दुनिया की रीति
AMRESH KUMAR VERMA
जिन्दगी की रफ़्तार
मनोज कर्ण
फिर एक समस्या
डॉ एल के मिश्र
✍️खुदगर्ज़ थे वो ख्वाब✍️
"अशांत" शेखर
कहानी *”ममता”* पार्ट-1 लेखक: राधाकिसन मूंधड़ा, सूरत।
radhakishan Mundhra
विसर्जन
Saraswati Bajpai
Colourful Balloons
Buddha Prakash
शैशव की लयबद्ध तरंगे
Rashmi Sanjay
बस तू चाहिए।
Harshvardhan "आवारा"
गुमनाम मुहब्बत का आशिक
श्री रमण 'श्रीपद्'
सच्चा प्यार
Anamika Singh
फ़नकार समझते हैं Ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
मानव छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
आप तो आप ही हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता जी
Rakesh Pathak Kathara
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
नव गीत
Sushila Joshi
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
मेरे दिल को
Dr fauzia Naseem shad
✍️मी फिनिक्स...!✍️
"अशांत" शेखर
नींदों से कह दिया है
Dr fauzia Naseem shad
कभी न करना उससे, उसकी नेमतों का गिला ।
Dr fauzia Naseem shad
Loading...