Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Sep 2022 · 1 min read

✍️गुरु ✍️

प्रथम गुरु है माता, द्वितीय गुरु है पिता,
तृतीय है शिक्षकगण,
गुरु सिर्फ एक शब्द नहीं,
एक सच्ची भावना है,
गुरु ने ही सही रास्ता दिखाया है,
गुरु ने ही जीवन का पाठ सिखलाया है,
कोई नहीं इस संसार में गुरु के समान,
गुरु ने ही हमे ईश्वर से मिलवाया है,
हर व्यवसाय मे लोग अपना स्वार्थ अपना भला चाहते है,
एक गुरु ही है जो अपने विधार्थियों को खुद से ज्यादा कामयाब देखना चाहते है,
मनुष्य को मनुष्य बनाने का सफर एक गुरु के द्वारा ही शुरू होता है,
इस संसार में हमे सदमार्ग दिखाने वाला हर इंसान हमारा गुरु होता है,
गुरुओं की नैतिक बातों का सदैव करते रहो श्रवण,
जो हमे सच्चा इंसान बनाते है,
मेरा उन तमाम गुरुओं को सत् सत् नमन।

✍️वैष्णवी गुप्ता
कौशांबी

Language: Hindi
Tag: कविता
7 Likes · 8 Comments · 94 Views
You may also like:
“ मिलकर सबके साथ चलो “
DrLakshman Jha Parimal
मुझको ये जीवन जीना है
Saraswati Bajpai
हम तुमसे जब मिल नहीं पाते
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अपने घर से हार गया
सूर्यकांत द्विवेदी
धुँध
Rekha Drolia
खूबसूरत बहुत हैं ये रंगीन दुनिया
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
ख़्वाब
Gaurav Sharma
ईश्वर की ठोकर
Vikas Sharma'Shivaaya'
सेमर
विकास वशिष्ठ *विक्की
जुनू- जुनू ,जुनू चढा तेरे प्यार का
Swami Ganganiya
तुम अगर हो पास मेरे
gurudeenverma198
मेरे बहादुर पिता
shabina. Naaz
एहसासात
Shyam Sundar Subramanian
उसकी आँखों के दर्द ने मुझे, अपने अतीत का अक्स...
Manisha Manjari
दुनिया की फ़ितरत
Anamika Singh
" कुरीतियों का दहन ही विजयादशमी की सार्थकता "
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
गुुल हो गुलशन हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
अंदर से टूट कर भी
Dr fauzia Naseem shad
तस्वीर
विशाल शुक्ल
आस्तीन के साँप
Dr Archana Gupta
तवायफ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
क्या फायदा...
Abhishek Pandey Abhi
माँ धनलक्ष्मी
Vishnu Prasad 'panchotiya'
💔💔...broken
Palak Shreya
# मां ...
Chinta netam " मन "
राम केवल एक चुनावी मुद्दा नही हमारे आराध्य है
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
सपना देखा है तो
कवि दीपक बवेजा
याद रखेंगे हम
Shekhar Chandra Mitra
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
*श्री सरदार पटेल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...