Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#9 Trending Author

.✍️कबीर-मुर्शिद मेरा✍️

✍️कबीर-मुर्शिद मेरा✍️
……………………………………………….//
“पोथी पढ़ि पढ़ि जग मुआ,
पंडित भया न कोय,
ढाई आखर प्रेम का,
पढ़े सो पंडित होय।”
इस युद्धजन्य स्थिति
में कबीर कितने समर्पक है।
काश इस “दोहे” की दुनिया
भी समर्थक होती..!
फिर आदमी प्रेम की
परिभाषा भी समझता ।
और आदमी से इंसान
बनने के लिये पीर संतो का
योगदान भी जान लेता ।।

कबीर, अफ़सोस ये है
के अब तक आदम
“ढाई आखर प्रेम का”
अपने अंदर मुर्शिद ना कर पाया।
…………….………………………………..//
✍️”अशांत”शेखर✍️
14/06/2022

2 Likes · 4 Comments · 71 Views
You may also like:
धर्म बला है...?
मनोज कर्ण
मुर्गा बेचारा...
मनोज कर्ण
चलो जहाँ की रूसवाईयों से दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
स्वर्गीय श्री पुष्पेंद्र वर्णवाल जी का एक पत्र : मधुर...
Ravi Prakash
✍️✍️ए जिंदगी✍️✍️
'अशांत' शेखर
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
पिता खुशियों का द्वार है।
Taj Mohammad
✍️आरसे✍️
'अशांत' शेखर
सच्चा रिश्ता
DESH RAJ
मेरे पीछे जमाना चले ओर आगे गन-धारी दो वीर हो!
Suraj Kushwaha
★HAPPY FATHER'S DAY ★
KAMAL THAKUR
आंचल में मां के जिंदगी महफूज होती है
VINOD KUMAR CHAUHAN
" COMMUNICATION GAP AMONG FRIENDS "
DrLakshman Jha Parimal
इश्क में तन्हाईयां बहुत है।
Taj Mohammad
जिन्दगी की अहमियत।
Taj Mohammad
क्या कुछ नहीं है मेरे पास
gurudeenverma198
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#छंद के लक्षण एवं प्रकार
आर.एस. 'प्रीतम'
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
जल की अहमियत
Utsav Kumar Aarya
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
✍️सलं...!✍️
'अशांत' शेखर
शाश्वत सत्य की कलम से।
Manisha Manjari
✍️किस्मत ही बदल गयी✍️
'अशांत' शेखर
" सामोद वीर हनुमान जी "
Dr Meenu Poonia
धर्म निरपेक्ष चश्मा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*अंतिम प्रणाम ! डॉक्टर मीना नकवी*
Ravi Prakash
अति का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...