Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author

✍️आप क्यूँ लिखते है ?✍️

✍️आप क्यूँ लिखते है ?✍️
……………………………………………………….//
पुरे दिन की
जहांन की हरकतें,
मौसम की हलचल,
करवट बदलता वक़्त,
इन सबको निचोड़कर
कुछ गंदगी को छानके
कुछ अच्छाई को पिरोके
लफ्ज़ो की माला बनाते है
वही कलम
आपके सजदे में चढ़ाते है ।
वही कलमा हम आपको पढ़ाते है।
वही होती है कविता,काव्य,गीत,
अभंग,गझल,रुबाई,नज़्म,मुक्तक,व्यंग,
बालकविता,भक्तिगीत, लेख,कथाये इत्यादि
मन का आवेश,दर्द,गम,द्वेष,तिरस्कार,वेदना,
प्रेम,प्यार,मोहब्बत,जुड़ना जोड़ना,तोड़ना,टूटना
अंदर तपता लाव्हा बनकर पनपता है
और अभिव्यक्ति भावना के
रूप में कागज़ पर व्यक्त होती है,
तब एक साहित्य कलाकृति का निर्माण होता है।

हम अपने दिमाग के बारूद
को फटने से बचाते है।
ताकी भारी मन और पूरा शरीर
हलका महसूस करे।
समाज के प्रति एक बड़ी
जिम्मेदारी हमने निभाई या कोई एक
महान कार्य हमने किया,ऐसी अनुभूति हमको मिलती है।
दिल को राहत,तसल्लीऔर सुकून के लिए
आप कलम के जरिये रोज एक महायुद्ध लड़ते है…!

सच बताइये क्या आप केवल इस लिए लिखते है ना ?
…………………………………………………………………//
✍️”अशांत”शेखर✍️
18/06/2022

#कृपया अपनी प्रतिक्रिया जरूर अभिव्यक्त करे।

2 Likes · 4 Comments · 79 Views
You may also like:
नूर ए हुस्न उसका।
Taj Mohammad
तुम्हारे शहर में कुछ दिन ठहर के देखूंगा।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
चलो करें धूम - धड़ाका..
लक्ष्मी सिंह
जिसे पाया नहीं मैंने
Dr fauzia Naseem shad
जिन्दगी का नया अंदाज
Anamika Singh
लेके काँवड़ दौड़ने
Jatashankar Prajapati
हम हर गम छुपा लेते हैं।
Taj Mohammad
तेरी यादें मुझे सोने नहीं देती
Ram Krishan Rastogi
तिरंगा
लक्ष्मी सिंह
Apology
Mahesh Ojha
कोशिश
Shyam Sundar Subramanian
बापू का सत्य के साथ प्रयोग
Pooja Singh
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
महामोह की महानिशा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ
Dr. Meenakshi Sharma
सुबह
AMRESH KUMAR VERMA
✍️खरा सोना✍️
'अशांत' शेखर
इक ख्वाहिश है।
Taj Mohammad
💐मनुष्यशरीरस्य शक्ति: सुष्ठु नियोजनं💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मां की पुण्यतिथि
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️वो मेरी तलाश में…✍️
'अशांत' शेखर
मत रो ऐ दिल
Anamika Singh
ये जिंदगी ना हंस रही है।
Taj Mohammad
तुमसे अगर प्यार अगर सच्चा न होता
gurudeenverma198
असफलता और मैं
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
जब भी सोचेंगे
Dr fauzia Naseem shad
तमाल छंद में सभी विधाएं सउदाहरण
Subhash Singhai
मैंने उस पल को
Dr fauzia Naseem shad
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
परवाह
Anamika Singh
Loading...