Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Aug 2022 · 1 min read

✍️आज के युवा ✍️

कुछ हाथों से कलम चलाते है,
कुछ हाथों से फोन चलाते है,

कुछ के दिमाग में करिअर का मोटीवेशन होता है,
कुछ करिअर का ‘c’ भी भूल जाते है,

कुछ का माँ- बाप से अत्याधिक लगाव होता है,
कुछ माँ- बाप से बातें छुपाते हैं,

कुछ के दिल में कर गुज़रने का ज़ज़्बा होता है,
कुछ दुनिया के फ़ितूर में फँस जाते है,

कुछ मन लगाकर पढाई करते है,
कुछ घंटो इंस्टाग्राम चलाते है,

कुछ रातभर जाग कर ज़िंदगी बनाते है,
कुछ रातभर फोन पे बतियाते है,

कुछ पढ़- लिखकर अफ़सर बन जाते है,
कुछ नुक्कड़ों पर नज़र आते है,

कुछ खुशहाली से ज़िंदगी बिताते हैं,
कुछ ज़िंदगी भर पछताते है,

एक रास्ता मुश्किल है, एक है आसान,
मर्ज़ी आपकी है ढुंढिये वो रास्ता,
जहाँ मिले आपको सम्मान।

✍️वैष्णवी गुप्ता
कौशांबी

Language: Hindi
Tag: कविता
10 Likes · 10 Comments · 126 Views
You may also like:
दर्शय चला
Yash Tanha Shayar Hu
🌺इक मुलाक़ात पर इतना एहतिमाल🌺⚜️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सच वह देखे तो पसीना आ जाए
कवि दीपक बवेजा
सोच
लक्ष्मी सिंह
ये दिल है जो तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
तू तो नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मुस्ताकिल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Writing Challenge- भय (Fear)
Sahityapedia
देख रहा था
Mahendra Narayan
सच होता है कड़वा
gurudeenverma198
परिणति
Shyam Sundar Subramanian
*एक शेर*
Ravi Prakash
नवगीत---- जीवन का आर्तनाद
Sushila Joshi
तुम कैसे रहते हो।
Taj Mohammad
उम्र
Anamika Singh
वो आज मिला है खुलकर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
भुलाने की कोशिश में तुझे याद कर जाता हूँ
Writer_ermkumar
तोड़ डालो ये परम्परा
VINOD KUMAR CHAUHAN
★ ACTION BOLLYWOOD MUSIC ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
तम भरे मन में उजाला आज करके देख लेना!!
संजीव शुक्ल 'सचिन'
माता-पिता की जान है उसकी संतान
Umender kumar
सच
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
साथ जीने के लिए
surenderpal vaidya
जो चाहे कर सकता है
Alok kumar Mishra
कहां पता था
dks.lhp
दर्द का ईलाज
Shekhar Chandra Mitra
जिंदगी भी क्या है
shabina. Naaz
शराफत में इसको मुहब्बत लिखेंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
तुम से मिलना था मिल नही पाये
Dr fauzia Naseem shad
सूरज का ताप
सतीश मिश्र "अचूक"
Loading...