Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jan 2023 · 1 min read

■ बधाई कोई रेवड़ी नहीं!

■युवा दिवस की बधाई
“युवा दिवस” की शुभकामनाएं उस युवा-शक्ति को, जो युगदृष्टा स्वामी विवेकानंद द्वारा परिभाषित “युवा” के कृतित्व और व्यक्तित्व को 5 प्रतिशत भी रेखांकित एवं प्रमाणित करती हो। न मैं नेता, न ही बधाई कोई रेवड़ी, जो किसी को भी बांट दी जाए उठा कर।
जयन्ती पर्व पर भारतीय मेधा और तरुणाई के प्रतीक युगपुरुष स्वामी विवेकानंद जी के श्रीचरणों में कोटिशः नमन।
जय हिंद। वंदे मातरम।।
【प्रणय प्रभात】

Language: Hindi
1 Like · 23 Views
You may also like:
■ अटल भरोसा...
■ अटल भरोसा...
*Author प्रणय प्रभात*
जीवन आनंद
जीवन आनंद
Shyam Sundar Subramanian
दोहे-
दोहे-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तू भी तो
तू भी तो
gurudeenverma198
#दीनता_की_कहानी_कहूँ_और_क्या....!!
#दीनता_की_कहानी_कहूँ_और_क्या....!!
संजीव शुक्ल 'सचिन'
*तुम साँझ ढले चले आना*
*तुम साँझ ढले चले आना*
Shashi kala vyas
सूरज को ले आता कौन?
सूरज को ले आता कौन?
AJAY AMITABH SUMAN
🥀💢मेरा इश्क़ बहुत ही सादिक़ है💢🥀
🥀💢मेरा इश्क़ बहुत ही सादिक़ है💢🥀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
//स्वागत है:२०२२//
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
सड़क सुरक्षा पर दोहे
सड़क सुरक्षा पर दोहे
शांतिलाल सोनी
मैं उड़ सकती
मैं उड़ सकती
Surya Barman
✍️एक ख़्वाब आँखों से गिरा...
✍️एक ख़्वाब आँखों से गिरा...
'अशांत' शेखर
इक अजीब सी उलझन है सीने में
इक अजीब सी उलझन है सीने में
करन मीना ''केसरा''
ਮਿਲਣ ਲਈ ਤਰਸਦਾ ਹਾਂ
ਮਿਲਣ ਲਈ ਤਰਸਦਾ ਹਾਂ
Surinder blackpen
कितना मुझे रुलाओगे ! बस करो
कितना मुझे रुलाओगे ! बस करो
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
भाषा की समस्या
भाषा की समस्या
Shekhar Chandra Mitra
सबनम की तरहा दिल पे तेरे छा ही जाऊंगा
सबनम की तरहा दिल पे तेरे छा ही जाऊंगा
Anand Sharma
“TEASING IS NOT ACCEPTED AT ALL ON SOCIAL MEDIA”
“TEASING IS NOT ACCEPTED AT ALL ON SOCIAL MEDIA”
DrLakshman Jha Parimal
आघात
आघात
Dr. Sunita Singh
Propose Day
Propose Day
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
याद आते हैं वो
याद आते हैं वो
रोहताश वर्मा मुसाफिर
राम हमारी आस्था, राम अमिट विश्वास।
राम हमारी आस्था, राम अमिट विश्वास।
डॉ.सीमा अग्रवाल
अब कितना कुछ और सहा जाए-
अब कितना कुछ और सहा जाए-
डी. के. निवातिया
उपहार
उपहार
Satish Srijan
मातृदिवस
मातृदिवस
Dr Archana Gupta
ठोकरें कितनी खाई है राहों में कभी मत पूछना
ठोकरें कितनी खाई है राहों में कभी मत पूछना
कवि दीपक बवेजा
हम जो तुम किसी से ना कह सको वो कहानी है
हम जो तुम किसी से ना कह सको वो कहानी...
J_Kay Chhonkar
मेरी आंखों में इश्क़ दिखता है
मेरी आंखों में इश्क़ दिखता है
Dr fauzia Naseem shad
*बुरी बला मोटापा (बाल कविता)*
*बुरी बला मोटापा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
नंदक वन में
नंदक वन में
Dr. Girish Chandra Agarwal
Loading...