Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Dec 2022 · 1 min read

■ अलर्ट फ़ॉर 2023

■ #ALLERT
जान-बूझकर आत्मघात की सड़क के बीचों-बीच न आएं। प्रोटोकॉल के फुटपाथ पर चलें और सुरक्षित रहें। अपने साथ-साथ अपनो व औरों पर भी रहम करें। नया साल भी बेरहम हो सकता है। आगे आपकी मर्जी।
#your_life_your_rules
【प्रणय प्रभात】

Language: Hindi
1 Like · 48 Views
You may also like:
What I wished for is CRISPY king
What I wished for is CRISPY king
Ankita Patel
***
*** " नाविक ले पतवार....! " ***
VEDANTA PATEL
शीर्षक:
शीर्षक: "मैं तेरे शहर आ भी जाऊं तो"
MSW Sunil SainiCENA
यूँही कुछ मसीहा लोग बेवजह उलझ जाते है
यूँही कुछ मसीहा लोग बेवजह उलझ जाते है
'अशांत' शेखर
दिल मुसलसल आज भी तुमको याद करता है।
दिल मुसलसल आज भी तुमको याद करता है।
Taj Mohammad
मेरी आंखों में
मेरी आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
कमबख़्त 'इश़्क
कमबख़्त 'इश़्क
Shyam Sundar Subramanian
विचार मंच भाग - 6
विचार मंच भाग - 6
Rohit Kaushik
Kagaj ki nav ban gyi mai
Kagaj ki nav ban gyi mai
Sakshi Tripathi
तुम्हारे सिवा और दिल में नहीं
तुम्हारे सिवा और दिल में नहीं
gurudeenverma198
मकर संक्रांति
मकर संक्रांति
Seema gupta,Alwar
फ़साना-ए-उल्फ़त सुनाते सुनाते
फ़साना-ए-उल्फ़त सुनाते सुनाते
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
#ekabodhbalak
#ekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सत्य को सूली
सत्य को सूली
Shekhar Chandra Mitra
"डॉ० रामबली मिश्र 'हरिहरपुरी' का
Rambali Mishra
औरत
औरत
Rekha Drolia
*अपने पैरों पर चला (हिंदी गजल/गीतिका)*
*अपने पैरों पर चला (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
अब वो किसी और से इश्क़ लड़ाती हैं
अब वो किसी और से इश्क़ लड़ाती हैं
Writer_ermkumar
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Writing Challenge- आने वाला कल (Tomorrow)
Writing Challenge- आने वाला कल (Tomorrow)
Sahityapedia
पूनम का चांद
पूनम का चांद
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
💐प्रेम कौतुक-223💐
💐प्रेम कौतुक-223💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"एक नाविक सा"
Dr. Kishan tandon kranti
घिसी चप्पल
घिसी चप्पल
N.ksahu0007@writer
रिश्तो मे गलतफ़हमी
रिश्तो मे गलतफ़हमी
Anamika Singh
घर से निकले मगर दहलीज पार ना हुई
घर से निकले मगर दहलीज पार ना हुई
कवि दीपक बवेजा
जरूरत उसे भी थी
जरूरत उसे भी थी
Abhishek Pandey Abhi
गीत
गीत
Shiva Awasthi
■ आज का गहन शोध
■ आज का गहन शोध
*Author प्रणय प्रभात*
चरित्रार्थ होगा काल जब, निःशब्द रह तू जायेगा।
चरित्रार्थ होगा काल जब, निःशब्द रह तू जायेगा।
Manisha Manjari
Loading...