Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Aug 2022 · 1 min read

ग़ज़ल / (हिन्दी)

एक मीठी-सी सजा है ज़िन्दगी ।
रोग भी है औ’ दवा है ज़िन्दगी ।

मौत पर ही ख़त्म हो जिसका असर,
वो मुसलसल-सा नशा है ज़िन्दगी ।

खोज़ती है सिर्फ़ ज़र, जोरू, ज़मीं,
बेवकूफ़ी पर फिदा है ज़िन्दगी ।

रंग गिरगिट-सा बदलता , देख लो
बेवफ़ा है , बा-वफ़ा है ज़िन्दगी ।

सिर्फ़ जीने की कला आती, उन्हें
फ़ायदा -दर -फ़ायदा है ज़िन्दगी ।

ख़ोजता है रोज़ वो शामो-सहर,
आदमी से लापता है ज़िन्दगी ।

नाम ‘ईश्वर’ है मेरा बस, इसलिए
जानता हूँ मैं कि क्या है ज़िन्दगी ।
०००००
— ईश्वर दयाल गोस्वामी

Language: Hindi
Tag: ग़ज़ल
11 Likes · 14 Comments · 398 Views
You may also like:
✍️काश की ऐसा हो पाता ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
खुशियों का मोल
Dr fauzia Naseem shad
'नटखट नटवर'(डमरू घनाक्षरी)
Godambari Negi
✍️मेरे जिंदगी का कैनवास...
'अशांत' शेखर
अंकित है जो सत्य शिला पर
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
सच में शक्ति अकूत (गीत)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
गज़ल
Sunita Gupta
बाबू जी
Anoop 'Samar'
महान है मेरे पिता
gpoddarmkg
मुलाक़ात पहली मगर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आशाओं के दीप जलाए थे मैने
Ram Krishan Rastogi
ये दुनियाँ
Anamika Singh
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
अनुरोध
Rashmi Sanjay
" स्वतंत्रता क्रांति के सिंह पुरुष पंडित दशरथ झा "
DrLakshman Jha Parimal
"कारगिल विजय दिवस"
Lohit Tamta
हास्य-व्यंग्य
Sadanand Kumar
एक शहीद की महबूबा
ओनिका सेतिया 'अनु '
हम भी कहेंगे अपने तजुरबात पे ग़जल।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मुझकोमालूम नहीं था
gurudeenverma198
विद्यार्थी परीक्षाओं से डरें नही बल्कि डटकर मुकाबला करें
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
ईश्वर की ठोकर
Vikas Sharma'Shivaaya'
कोई बात भी नहीं है।
Taj Mohammad
आईना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सुधर जाओ, द्रोणाचार्य!
Shekhar Chandra Mitra
जीवन साथी
जगदीश लववंशी
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
*पत्रिका-समीक्षा*
Ravi Prakash
बिखरे हम टूट के फिर कच्चे मकानों की तरह
Ashok Ashq
कितनी पीड़ा कितने भागीरथी
सूर्यकांत द्विवेदी
Loading...