Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ग़ज़ल (मेरे मालिक मेरे मौला )

ग़ज़ल (मेरे मालिक मेरे मौला )

मेरे मालिक मेरे मौला ये क्या दुनिया बनाई है
किसी के पास खाने को मगर बह खा नहीं पाये

तेरी दुनियां में कुछ बंदें, करते काम क्यों गंदें
किसी के पास कुछ भी ना, भूखे पेट सो जाये

जो सीधे सादे रहतें हैं मुश्किल में क्यों रहतें है
तेरी बातोँ को तू जाने, समझ अपनी ना कुछ आये

तुझे पाने की कोशिश में कहाँ कहाँ मैं नहीं घूमा
जब रोता बच्चा मुस्कराता है तू ही तू नजर आये

ना रिश्तों की महक दिखती ना बातोँ में ही दम दीखता
क्यों मायूसी ही मायूसी जिधर देखो नज़र आये

गुजारिश अपनी सबसे है कि जीयो और जीने दो
ये जीवन कुछ पलों का है पता कब मौत आ जाये

मेरे मालिक मेरे मौला ये क्या दुनिया बनाई है
किसी के पास खाने को मगर बह खा नहीं पाये

ग़ज़ल (मेरे मालिक मेरे मौला )
मदन मोहन सक्सेना

125 Views
You may also like:
“ गोलू क जन्म दिन “
DrLakshman Jha Parimal
पैसा बोलता है...
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
कायनात से दिल्लगी कर लो।
Taj Mohammad
अपने इश्क को।
Taj Mohammad
हमने किस्मत से आँखें लड़ाई मगर
VINOD KUMAR CHAUHAN
फूल की ललक
Vijaykumar Gundal
✍️दिव्याची महत्ती...!✍️
"अशांत" शेखर
दया करो भगवान
Buddha Prakash
गुनाह पर गुनाह।
Taj Mohammad
मेरे सनम
DESH RAJ
कुएं का पानी की कहानी | Water In The Well...
harpreet.kaur19171
घृणित नजर
Dr Meenu Poonia
मन पीर कैसे सहूँ
Dr. Sunita Singh
क्यों मार दिया,सिद्दू मूसावाले को
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Born again with love...
Abhineet Mittal
टूट कर की पढ़ाई...
आकाश महेशपुरी
अपना राह तुम खुद बनाओ
अनामिका सिंह
'तुम भी ना'
Rashmi Sanjay
एक दिया अनजान साथी के नाम
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐प्रेम की राह पर-29💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आशाओं के दीप.....
Chandra Prakash Patel
ग़ज़ल & दिल की किताब में -राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बगिया जोखीराम में श्री चंद्र सतगुरु की आरती
Ravi Prakash
बगुले ही बगुले बैठे हैं, भैया हंसों के वेश में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
होना सभी का हिसाब है।
Taj Mohammad
जिन्दगी
अनामिका सिंह
✍️दो आँखे एक तन्हा ख़्वाब✍️
"अशांत" शेखर
मुस्ताकिल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
माखन चोर
N.ksahu0007@writer
Loading...