Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

ग़ज़ल।जहां मे ज्ञान का पौधा सदा बोता रहा शिक्षक ।

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,ग़ज़ल ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

सजता राह जीवन की स्वंय खोता रहा शिक्षक ।
जहां मे ज्ञान का पौधा सदा बोता रहा शिक्षक ।

हमारी एक ग़लती पर हमे वो डांटने लगता ।
दिखाकर राह सच झूठी सज़ा देता रहा शिक्षक ।

मिले जो कामयाबी तो वो पीठें थपथपाता है ।
हमारी हार सुनकर के दुखी होता रहा शिक्षक ।

बने हम नागरिक सच्चे करें हम देश की सेवा ।
हमेशा देश भक्ति मे हमे धोता रहा शिक्षक ।

सिखाता पाठ जीवन के मिटाता अन्ध हृदय से ।
महापुरुषों के साये को ख़ुदी ढ़ोता रहा शिक्षक ।

पिता, माता ,सखा, भाई तनय सा प्यार देता है ।
सभी रिस्तो के सागर मे लगा गोता रहा शिक्षक ।

करेंगे नाम दुनियां मे यही उम्मीद रख “रकमिश ।
चिरंगुन हम बना पंछी हमे सेता रहा शिक्षक ।

राम केश मिश्र
सुलतानपुर उत्तर प्रदेश

239 Views
You may also like:
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"पिता की क्षमता"
पंकज कुमार कर्ण
The Buddha And His Path
Buddha Prakash
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
"खुद की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
मेरा गुरूर है पिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
इस दर्द को यदि भूला दिया, तो शब्द कहाँ से...
Manisha Manjari
✍️फिर बच्चे बन जाते ✍️
Vaishnavi Gupta
Kavita Nahi hun mai
Shyam Pandey
पिता
Mamta Rani
पिता
लक्ष्मी सिंह
पिता
Buddha Prakash
✍️इतने महान नही ✍️
Vaishnavi Gupta
दर्द की हम दवा
Dr fauzia Naseem shad
हायकु मुक्तक-पिता
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
क्या लगा आपको आप छोड़कर जाओगे,
Vaishnavi Gupta
“ तेरी लौ ”
DESH RAJ
बाबा साहेब जन्मोत्सव
Mahender Singh Hans
कौन होता है कवि
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ठोडे का खेल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ठोकरों ने समझाया
Anamika Singh
कहीं पे तो होगा नियंत्रण !
Ajit Kumar "Karn"
ख़्वाहिश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
बोझ
आकांक्षा राय
फहराये तिरंगा ।
Buddha Prakash
हिय बसाले सिया राम
शेख़ जाफ़र खान
✍️स्कूल टाइम ✍️
Vaishnavi Gupta
उस पथ पर ले चलो।
Buddha Prakash
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
पिता
नवीन जोशी 'नवल'
Loading...