#1 Trending Author

ग़ज़ल- जबसे निकला है बेवफा कोई

ग़ज़ल- जबसे निकला है बेवफा कोई
★★★★★★★★★★★★★★★★
जबसे निकला है बेवफा कोई
मर्द हो के भी रो रहा कोई

देखो कैसे उदास बैठा है
जैसे गुजरा हो हादसा कोई

जिसको दिल का करार कहते हैँ
दे दे इसका मुझे पता कोई

उसके अश्कोँ पे खुश हुआ था मैँ
इसकी दे दे मुझे सजा कोई

तुम तो पत्थर को मात देते थे
कैसे आँखोँ मेँ छा गया कोई

कुछ तो ऐसे हालात होते हैँ
यूँ ही करता नहीँ ख़ता कोई

चोट ‘आकाश’ हैँ पुराने से
जख़्म दे दे मुझे नया कोई

– आकाश महेशपुरी

2 Likes · 1 Comment · 298 Views
You may also like:
"सूखा गुलाब का फूल"
Ajit Kumar "Karn"
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग८]
Anamika Singh
!!*!! कोरोना मजबूत नहीं कमजोर है !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कोमल हृदय - नारी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
फूलों की वर्षा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
【12】 **" तितली की उड़ान "**
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
चेहरा अश्कों से नम था
Taj Mohammad
क्या देखें हम...
सूर्यकांत द्विवेदी
चलो जिन्दगी को।
Taj Mohammad
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
ख़ूब समझते हैं ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
पिता ईश्वर का दूसरा रूप है।
Taj Mohammad
ये नारी है नारी।
Taj Mohammad
तोड़कर मुझे न देख
अरशद रसूल /Arshad Rasool
मैं हो गई पराई.....
Dr. Alpa H.
आप कौन है
Sandeep Albela
पहाड़ों की रानी
Shailendra Aseem
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
यदि मेरी पीड़ा पढ़ पाती
Saraswati Bajpai
अब कहां कोई।
Taj Mohammad
खेसारी लाल बानी
Ranjeet Kumar
महामोह की महानिशा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रेम...
Sapna K S
भारतीय संस्कृति के सेतु आदि शंकराचार्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एक सच्चे इंसान थे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
अभी बचपन है इनका
gurudeenverma198
पर्यावरण बचा लो,कर लो बृक्षों की निगरानी अब
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...