Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

रंगमंच है ये जगत

सबकी जीवन डोर को, थामे वो सरकार
रंगमंच है ये जगत, हम सब हैं किरदार

हम सब हैं किरदार, खुदा जो है राम वही
देता जग को अम्न, शान्ति का पैग़ाम वही

महावीर कविराय, सुने वो दाता उसकी
जो उसके दरबार, ख़ैर मांगे है सबकी

***

1 Like · 94 Views
You may also like:
💐दोषानां निवारणस्य कृते प्रार्थना💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
करवा चौथ
Manoj Tanan
✍️✍️चार बूँदे...✍️✍️
'अशांत' शेखर
दोस्ती का हर दिन ही
Dr fauzia Naseem shad
Security Guard
Buddha Prakash
सावन का मौसम आया
Anamika Singh
बेटी की मायका यात्रा
Ashwani Kumar Jaiswal
चाहत
Lohit Tamta
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
✍️दिल ही बेईमान था✍️
'अशांत' शेखर
जल है जीवन में आधार
Mahender Singh Hans
घर की रानी
Kanchan Khanna
✍️गुनाह की सजा✍️
'अशांत' शेखर
इंसान
Annu Gurjar
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
हमारे शुभेक्षु पिता
Aditya Prakash
“ कोरोना ”
DESH RAJ
कितनी बार लड़ हम गए
gurudeenverma198
बुद्ध धाम
Buddha Prakash
Waqt
ananya rai parashar
न झुकेगे हम
AMRESH KUMAR VERMA
श्री गंगा दशहरा द्वार पत्र (उत्तराखंड परंपरा )
श्याम सिंह बिष्ट
शून्य से अनन्त
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
दिल का मोल
Vikas Sharma'Shivaaya'
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️सरहदों के गहरे ज़ख्म✍️
'अशांत' शेखर
R
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
पुस्तक समीक्षा -'जन्मदिन'
Rashmi Sanjay
✍️लौटा हि दूँगा...✍️
'अशांत' शेखर
Loading...