Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#22 Trending Author
Jun 26, 2022 · 1 min read

हो गई स्याह वह सुबह

हो गई स्याह वह सुबह,
जो देख रहा था कल आशा से,
हो गया गुम वह सूरज क्षितिज में,
जो बिखेर रहा था लालिमा अपनी,
देख रहा हूँ अब आकाश को,
बिल्कुल शून्य की तरहां अब मैं।

अंतर सिर्फ इतना सा है कि,
परवाज अब पक्षियों की नहीं है,
नजर नहीं आ रही है वह चिड़िया भी,
जो थी बहुत चंचल और सुंदर,
करना चाहता था जिसका शिकार,
कोई शिकारी अपने तीर कभी।

हो गई मन्द्विम वह लौ भी,
जिससे थी रोशनी कमरे में,
और बन गई वह भी हवा अब,
जो नजर आती थी मोती सी,
ओस की तरह जमीं पर सुबह,
जो होती थी शीतल हवा लिये।

बन गया अब वह धूम सा,
जिसको मानता था भविष्य,
एक सुनहरा सपना जीवन का,
खामोश है अब वो लब ,
चेहरा है अब झुका हुआ,
और खड़ा हूँ एक बूत सा,
क्योंकि हो गई स्याह वह सुबह।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

66 Views
You may also like:
'माॅं बहुत बीमार है'
Rashmi Sanjay
When I missed you.
Taj Mohammad
वक्त का खेल
AMRESH KUMAR VERMA
मयखाने
Vikas Sharma'Shivaaya'
Keep faith in GOD and yourself.
Taj Mohammad
😊तेरी मिरी चिड़ी पीड़ि😊
DR ARUN KUMAR SHASTRI
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में
Ram Krishan Rastogi
पिता का मर्तबा।
Taj Mohammad
माँ
संजीव शुक्ल 'सचिन'
" फ़ोटो "
Dr Meenu Poonia
भगवान जगन्नाथ की आरती (०१
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इंसानों की इस भीड़ में
Dr fauzia Naseem shad
वक्त ए ज़लाल।
Taj Mohammad
ये वतन हमारा है
Dr fauzia Naseem shad
पिता की अभिलाषा
मनोज कर्ण
दिया
Anamika Singh
जिन्दगी और सपने
Anamika Singh
✍️✍️जरी ही...!✍️✍️
'अशांत' शेखर
भगवा हटा बिहार में, चढ़ गया हरा रंग
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️13/07 (तेरा साथ)✍️
'अशांत' शेखर
रेत   का   घर 
Alok Saxena
क्या नाम दे ?
Taj Mohammad
होली
AMRESH KUMAR VERMA
वजह क्या हो सकती है
gurudeenverma198
تیری یادوں کی خوشبو فضا چاہتا ہوں۔
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
सफर में।
Taj Mohammad
तेरे बिन
Harshvardhan "आवारा"
मेरा भारत मेरा तिरंगा
Ram Krishan Rastogi
किसे फर्क पड़ता है।(कविता)
sangeeta beniwal
Loading...