Oct 16, 2016 · 1 min read

हैं टुन्न सभी पीना पिलाना क्या करे

दे कोई गम जो दुबारा क्या करें
न कोई तुम सा हमारा क्या करें
*************************
है गम तो अब बहाना क्या करें
है तू तो फिर जमाना क्या करें
************************
है तू अपना तो बेगाना क्या करें
तू नही तो आना’ जाना क्या करें
************************
हैं बहर मुश्किल तराना क्या करें
हैं तर अश्क में ,नहाना क्या करें
***********************
है ‘कपिल’ गम ये पुराना क्या करें,
हैं टुन्न सभी पीना पिलाना क्या करें
************************
कपिल कुमार
16/10/2016

अश्क़…….आँसू

112 Views
You may also like:
बद्दुआ।
Taj Mohammad
*मन या तन *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*झाँसी की क्षत्राणी । (झाँसी की वीरांगना/वीरनारी)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*कथावाचक श्री राजेंद्र प्रसाद पांडेय 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
हमारी प्यारी मां
Shriyansh Gupta
अशोक विश्नोई एक विलक्षण साधक (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
धुँध
Rekha Drolia
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
श्री राम
नवीन जोशी 'नवल'
कविता " बोध "
vishwambhar pandey vyagra
जाने कैसी कैद
Saraswati Bajpai
गरीब लड़की का बाप है।
Taj Mohammad
सोए है जो कब्रों में।
Taj Mohammad
फीका त्यौहार
पाण्डेय चिदानन्द
सच में ईश्वर लगते पिता हमारें।।
Taj Mohammad
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
(स्वतंत्रता की रक्षा)
Prabhudayal Raniwal
अथर्व को जन्म दिन की शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इश्क़―की―आग
N.ksahu0007@writer
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मुक्तक(मंच)
Dr Archana Gupta
बगिया जोखीराम में श्री चंद्र सतगुरु की आरती
Ravi Prakash
सुधारने का वक्त
AMRESH KUMAR VERMA
सृजन कर्ता है पिता।
Taj Mohammad
मां तो मां होती है ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
बुंदेली दोहा- गुदना
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अख़बार
आकाश महेशपुरी
विभाजन की विभीषिका
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कोई हमारा ना हुआ।
Taj Mohammad
आदर्श ग्राम्य
Tnmy R Shandily
Loading...