Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 11, 2022 · 1 min read

# हे राम …

# हे राम … …

शाम से हुई सुबह
सुबह से हो गई शाम …!

हर जुबां पर जनता की
बस बात यही है मान …!

राज्य सरकार बिजली के ,
केंद्र बढ़ाएं पेट्रोल के दाम…!

दो पाटों में पिसते सत्ता के ,
कहां जाए हम जनता आम…!

सुबह-सुबह ये खबर पढ़के ,
मेरे मुंह से निकला हे राम… हे राम…!

चिन्ता नेताम ” मन”
डोंगरगांव (छत्तीसगढ़)

128 Views
You may also like:
गीत... हो रहे हैं लोग
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
समय ।
Kanchan sarda Malu
💐नव ऊर्जा संचार💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
poem
पंकज ललितपुर
तरबूज का हाल
श्री रमण 'श्रीपद्'
✍️हम वतनपरस्त जागते रहे..✍️
'अशांत' शेखर
हासिल ना हुआ।
Taj Mohammad
✍️मैं एक मजदुर हूँ✍️
'अशांत' शेखर
बाबा की धूल
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
भोजन
लक्ष्मी सिंह
ये वतन हमारा है
Dr fauzia Naseem shad
सोने की दस अँगूठियाँ….
Piyush Goel
तुम धूप छांव मेरे हिस्से की
Saraswati Bajpai
लौट आई जिंदगी बेटी बनकर!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
इंसानियत
AMRESH KUMAR VERMA
कोई खामोशियां नहीं सुनता
Dr fauzia Naseem shad
नहीं रहे "कहो न प्यार है" के गीतकार व हरदिल...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️🌺प्रेम की राह पर-46🌺✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मज़ाक बन के रह गए हैं।
Taj Mohammad
नारा ए आज़ादी से गूंजा सारा हिंदुस्तां है।
Taj Mohammad
आदत
Anamika Singh
सुन मेरे बच्चे !............
sangeeta beniwal
डॉक्टर (मुक्तक)
Ravi Prakash
ज़िंदगी देती।है
Dr fauzia Naseem shad
खूबसूरत तस्वीर
DESH RAJ
✍️स्त्रोत✍️
'अशांत' शेखर
शम्मा ए इश्क़।
Taj Mohammad
फिजूल।
Taj Mohammad
ये कैसा बेटी बाप का रिश्ता है?
Taj Mohammad
पिता घर की पहचान
vivek.31priyanka
Loading...