Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#25 Trending Author
Jun 19, 2022 · 2 min read

हे महाकाल, शिव, शंकर।

हे महाकाल,शिव,शंकर…
विष धारण किए नील कंठ…!!!
सम्पूर्ण विश्व समाएं बैठे तुम हो स्वयं के अंदर…
हे महादेव तुम हो…
करुणा के समंदर…!!!
तुम हो सर्व पूज्य अर्चन…
तुमको प्रभु मेरा है कोटि कोटि नमन…!!!

हे पृथ्वी के दुख हरता…
तुम्हारी दृष्टि में है समरूपता…!!!
क्या सुर, क्या असुर सब ही करते है…
तुम्हारी भक्ती और वंदना…!!!

प्रत्येक रूप में तुम्हारी महिमा का…
मैं भक्तिपूर्वक गुणगान करूं…!!!
ॐ नमः शिवाय के जप से…
मैं स्वयं को नित ऊर्जावान करूं…!!!

तुलना किससे तुम्हारी मैं करू…
तुम अपरिभाषित,अजर हो…!!!
तुम सर्वथा प्रत्येक रूप में…
अनंत,अमर हो…!!!

व्याप्त हो तुम तो…
सम्पूर्ण जगत के कण कण में…!!!
भक्ति का फल देने को…
तुम प्रकट होते हो हर क्षण में…!!!

तुम्हारा नित वंदन मैं करता हूं…
तुम्हारे चरणों में शीश को अर्पण करता हूं…!!!
तुम हो अनन्य शक्ती का स्रोत…
तुम्हारी भक्ती से मैं आत्म सुख ग्रहण करता हूं…!!!

सत्य ही शिव है…
शिव ही शक्ति है…
ये सबसे कहता हूं…!!!
सुर,असुर,दीन,हीन के तुम रक्षक हो…
तुम्हारी जय हो जय हो महाकाल…
ये जपता रहता हूं…!!!

तुम्हारा दर्शन शब्दो में…
ना उल्लेखित हो सकता है…!!!
जहां मानव ज्ञान पराकाष्ठा…
का अंत होता है…!!!
वही से हे कृपाल दर्शी…
तुम्हारा ज्ञान प्रारम्भ होता है…!!!

तुम महाप्रलय तुम महाविनाशक…
तुम त्रिकाल दर्शी हो…!!!
देवों के देव हे महादेव…
तुम अजन्में देवों में शिरोमणि हो…!!!

हे महादेव तुम रक्षा करो…
हम पापी दुष्ट है हमको क्षमा करो…!!!
कर लो ग्रहण मेरी भक्ति भी…
मुझको मोक्ष प्रदान करो…!!!

तुम हो कृपाल…
तुम हो त्रिकाल…!!!
तुम्हारी जय हो,जय हो…
हे महाकाल…!!!

ताज मोहम्मद
लखनऊ

4 Likes · 8 Comments · 87 Views
You may also like:
नियति
Anamika Singh
✍️"सूरज"और "पिता"✍️
'अशांत' शेखर
जिन्दगी की रफ़्तार
मनोज कर्ण
माँ तुम सबसे खूबसूरत हो
Anamika Singh
आवत हिय हरषै नहीं नैनन नहीं स्नेह।
sheelasingh19544 Sheela Singh
मत्तगयंद सवैया ( राखी )
संजीव शुक्ल 'सचिन'
अगनित उरग..
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
माटी
Utsav Kumar Aarya
गुुल हो गुलशन हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
स्वर कोकिला
AMRESH KUMAR VERMA
चोरी चोरी छुपके छुपके
gurudeenverma198
🌺प्रेमस्य रसः ज्ञानस्य रसेण बहु विलक्षणं🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
मानव_शरीर_में_सप्तचक्रों_का_प्रभाव
Vikas Sharma'Shivaaya'
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित ,...
Subhash Singhai
*विश्व योग का दिन पावन इक्कीस जून को आता(गीत)*
Ravi Prakash
ज़िंदगी का सवाल होते हैं ।
Dr fauzia Naseem shad
बदनाम दिल बेचारा है
Taj Mohammad
ठोकरों ने गिराया ऐसा, कि चलना सीखा दिया।
Manisha Manjari
डाक्टर भी नहीं दवा देंगे।
सत्य कुमार प्रेमी
घुतिवान- ए- मनुज
AMRESH KUMAR VERMA
प्रेम
श्रीहर्ष आचार्य
✍️खुदाओं के खुदा✍️
'अशांत' शेखर
✍️✍️हौंसला✍️✍️
'अशांत' शेखर
सागर
Vikas Sharma'Shivaaya'
शबनम।
Taj Mohammad
प्रेम
Rashmi Sanjay
शादी का उत्सव
AMRESH KUMAR VERMA
पिता का प्रेम
Seema gupta ( bloger) Gupta
नया सपना
Kanchan Khanna
Loading...