Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 9, 2022 · 1 min read

हे मनुष्य!

हे मनुष्य!
सोचो, कहा है। आप
आगे या पीछे
आप आगे समझकर दस गुणा पीछे जा रहे हो।
हे मनुष्य! सोचो। कहा हो आप।

हे! क्या कर रहे हो आप
न्याय और ज्ञान को बेच रहे हो।
अन्याय और
अज्ञान को खरीद रहे हो।
धर्म को भूल कर
अधर्म को अपना रहे हो।
हे मनुष्य! क्या कर रहे हो आप।

हे मनुष्य! आप क्या पा रहे हो।
प्यार की जगह पैसा
मात-पिता की जगह मोती, दौलत।
अपना परायी होगया,
परायी अपना होगया।
इर्षा, असूया, असत्य, अलसी दोस्त होगया।
हे मनुष्य! क्या पा रहे हो आप।

हे मनुष्य! आप सुखः मे हो या दुःख में हो।
आप सुखः के लिए ही दुःखी हो।
हे मनुष्य! क्या हुआ।

उठो, नींद में से उठो।
कबतक नींद में रहते हो।
उठने का समय आगया।
सोचो और समजो
नही तो, अंतिम क्षण भी आयेगा।

अपना समय आगया।
हे मनुष्य! जागो।जागो।जागो।

जि. विजय कुमार
हैदराबाद
तेलंगाना

1 Like · 2 Comments · 123 Views
You may also like:
ज़िद
Harshvardhan "आवारा"
💐प्रेम की राह पर-56💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
माफी मैं नहीं मांगता
gurudeenverma198
'मृत्यु'
Godambari Negi
✍️✍️रब्त✍️✍️
'अशांत' शेखर
"अरे ओ मानव"
Dr Meenu Poonia
आंखों में तुम मेरी सांसों में तुम हो
VINOD KUMAR CHAUHAN
भगवान जगन्नाथ की आरती (०१
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
उम्मीद का दामन।
Taj Mohammad
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
✍️तर्क✍️
'अशांत' शेखर
✍️✍️नासूर दर्द✍️✍️
'अशांत' शेखर
चल-चल रे मन
Anamika Singh
क्यों मेरा
Dr fauzia Naseem shad
डॉक्टर की दवाई
Buddha Prakash
शुद्धिकरण
Kanchan Khanna
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
कर रहे शुभकामना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
*#महापुरुषों_के_पत्र* (संस्मरण)
Ravi Prakash
" जंगल की दुनिया "
Dr Meenu Poonia
✍️धुप में है साया✍️
'अशांत' शेखर
तुम्हीं हो पापा
Krishan Singh
आओ हम पेड़ लगाए, हरियाली के गीत गाए
जगदीश लववंशी
बेटियां।
Taj Mohammad
शायद मुझसा चोर नहीं मिल सकेगा
gurudeenverma198
"अल्फाज़ कहां से लाते हो"। सिर्फ ओ सिर्फ "अशांत"शेखर जी...
Taj Mohammad
✍️किरदार ✍️
'अशांत' शेखर
दिल से जियो।
Taj Mohammad
जब वो कृष्णा मेरे मन की आवाज़ बन जाता है।
Manisha Manjari
मेरी मोहब्बत की हर एक फिक्र में।
Taj Mohammad
Loading...