Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 May 2023 · 1 min read

हे अल्लाह मेरे परवरदिगार

या अल्लाह या मेरे परवरदिगार
कर निगाहे करम, दे प्यार ही प्यार
दुनिया हो रही वेजार
आदमी आदमी को खा रहा
नफरतों की आग में जग जल रहा
मज़हब के नाम हिंसा, इंसान ऐसे कर रहा
आखिरियत के लिए,सबाव जैसे भर रहा
या अल्लाह या मेरे परवरदिगार
इंसान और इंसानियत को दे
तेरा नूर दिली प्यार
बुझ जाए नफरतों की आग
दुनिया हो मुहब्बत से गुलजार
हो अमनो अमन शांति, प्यार और प्यार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
146 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
हे राम! तुम लौट आओ ना,,!
हे राम! तुम लौट आओ ना,,!
ओनिका सेतिया 'अनु '
जिज्ञासा और प्रयोग
जिज्ञासा और प्रयोग
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
छोड़ जाएंगे
छोड़ जाएंगे
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
*कहें यह भारत अपना (कुंडलिया)*
*कहें यह भारत अपना (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"अधूरी कविता"
Dr. Kishan tandon kranti
कुंडलिया छंद
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आँखों की बरसात
आँखों की बरसात
Dr. Sunita Singh
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Ankita Patel
मसखरा कहीं सो गया
मसखरा कहीं सो गया
Satish Srijan
सावन मे नारी।
सावन मे नारी।
Acharya Rama Nand Mandal
कब बोला था / मुसाफ़िर बैठा
कब बोला था / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
आओ और सराहा जाये
आओ और सराहा जाये
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
क्या करे
क्या करे
shabina. Naaz
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
DrLakshman Jha Parimal
बेटियां एक सहस
बेटियां एक सहस
तरुण सिंह पवार
खुदी में मगन हूँ, दिले-शाद हूँ मैं
खुदी में मगन हूँ, दिले-शाद हूँ मैं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मुसलसल ठोकरो से मेरा रास्ता नहीं बदला
मुसलसल ठोकरो से मेरा रास्ता नहीं बदला
कवि दीपक बवेजा
डियर जिंदगी ❤️
डियर जिंदगी ❤️
Sahil Shukla
समय का विशिष्ट कवि
समय का विशिष्ट कवि
Shekhar Chandra Mitra
इश्क की खुमार
इश्क की खुमार
Pratibha Pandey
मैं मित्र समझता हूं, वो भगवान समझता है।
मैं मित्र समझता हूं, वो भगवान समझता है।
Sanjay ' शून्य'
#DrArunKumarshastri
#DrArunKumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"छठ की बात"
पंकज कुमार कर्ण
पितृ ऋण
पितृ ऋण
Shyam Sundar Subramanian
स्वाल तुम्हारे-जवाब हमारे
स्वाल तुम्हारे-जवाब हमारे
Ravi Ghayal
समस्या है यह आएगी_
समस्या है यह आएगी_
Rajesh vyas
I know that I am intelligent because I know that I know nothing...
I know that I am intelligent because I know that I know nothing...
Dr. Rajiv
■ कटाक्ष / कथनी विरुद्ध करनी पर
■ कटाक्ष / कथनी विरुद्ध करनी पर
*Author प्रणय प्रभात*
परवाना बन गया है।
परवाना बन गया है।
Taj Mohammad
सबूत
सबूत
Dr.Priya Soni Khare
Loading...