Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 24, 2021 · 2 min read

हास्य व्यंग्य…… शादी के पश्चात

हास्य व्यंग्य..……….

इस व्यंग्य का वास्तविक जीवन से कोई सम्बंध नही है

सबसे ज्यादा हंसी तो तब आती है
शादी से पहले कामकाजी कही जाने वाली लड़की
सबसे ज्यादा काम ससुराल में
सास से करवाती है। और बेटा मूक दर्शक
बना देखता रहता है।
और कहता है।
बेटा – माँ थक गई है धर्मपत्नी मेरी
थोड़ा काम में हाथ तुम भी बंटा दिया करो।
सो जाएगी वो तो उसके लिए
थोड़ा सा खाना तुम बना दिया करो
मां – हैं, बेटा जानती हूँ। मजबूरी है,मेरी
बुढापे से लाचार हूँ।
आज तेरे पापा नही है, कमाने वाले
तभी तो मैं तेरे लिए आज घर मे पड़ा
एक फालतू समान हूँ।
बेटा – माँ तुम ऐसा क्यों बोलती हो । मैं तेरी ही तो संतान हूँ। माँ बहुत काम करती है बहु भी तेरी
बस आदत से लाचार है। माँ तुम क्या जानो की
उसका कितना बड़ा व्यपार है।
माँ – हाँ, बेटा जानती हूँ। वो बहुत बडी व्यपारी है
करती धरती कुछ नही बस उसकी तो फोन ही सबसे बड़ी बीमारी है।
बेटा – नही माँ, उसको सबकुछ आता है।
लेकिन थोड़ा व्यस्त रहती है वो,
इसलिए घर काम उसे नही भाता है।
माँ – हाँ बेटा थोड़ा काम जो करले वो
उसका मुंह फूल जाता है। इसके सिवा उसे कुछ भी तो नही आता है।
एक दो बातें जबतक सुना न दे वो,
तबतक उसके पेट का
गुबार कहां निकल पाता है।
दो दिन काम कर ले तो
उसे फिर कई दिनों तक
बिस्तर ही नज़र आता है।
और सुना है बेटा अब तो
तू चुपके से उसके
पैर भी दबाता है।

भूपेंद्र रावत
24।05।2021

2 Likes · 2 Comments · 536 Views
You may also like:
आत्मज्ञान
Shyam Sundar Subramanian
कविता - राह नहीं बदलूगां
Chatarsingh Gehlot
✍️पर्दा-ताक हुवा नहीं✍️
'अशांत' शेखर
रूसवा है मुझसे जिंदगी
VINOD KUMAR CHAUHAN
परख लो रास्ते को तुम.....
अश्क चिरैयाकोटी
आखिर क्या... दुनिया को
Nitu Sah
वर्तमान
Vikas Sharma'Shivaaya'
दीप तुम प्रज्वलित करते रहो।
Taj Mohammad
ठनक रहे माथे गर्मीले / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरे दिल को
Dr fauzia Naseem shad
तेरी नजरों में।
Taj Mohammad
कोशिश करो
Dr fauzia Naseem shad
✍️"अग्निपथ-३"...!✍️
'अशांत' शेखर
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:37
AJAY AMITABH SUMAN
वासना और करुणा
मनोज कर्ण
सुन री पवन।
Taj Mohammad
कारस्तानी
Alok Saxena
✍️मुझे कातिब बनाया✍️
'अशांत' शेखर
लाइलाज़
Seema Tuhaina
✍️ते मोगऱ्याचे झाड होते✍️
'अशांत' शेखर
"ज़िंदगी अगर किताब होती"
पंकज कुमार "कर्ण"
इश्क के मारे है।
Taj Mohammad
'%पर न जाएं कम % योग्यता का पैमाना नहीं है'
Godambari Negi
✍️✍️एहसास✍️✍️
'अशांत' शेखर
“आनंद ” की खोज में आदमी
DESH RAJ
बदरा कोहनाइल हवे
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
अजब कहानी है।
Taj Mohammad
“ अरुणांचल प्रदेशक “ सेला टॉप” “
DrLakshman Jha Parimal
चाँद और चाँदनी का मिलन
Anamika Singh
💐💐वासुदेव: सर्वम्💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...