हास्य -व्यंग्य कविता

हास्य -व्यंग्य कविता
————————–
एकवार B.Ed.में हमारा भी गया टूअर,
Cultural Programms में हम बड़े हो थे poor।
कुछ देरबाद हमारा भी नम्बर आया ,
हमने भी बेसुरी आवाज़ में एक गीत गुनगुनाया।
इतने में न जाने कहीं से एक गधा आया ,
हमारी आवाज़ सुनकर वो भी हिनहिनाया।
हमने कहा अबे गधे !हमारी आवाज़ में क्यों हिनहिना रहा है,
वो बोला हमारी आवाज़ में क्यों गुनगुना रहा है।
हमने कहा हम इंसान हैं तू हमारी तरह नकल मत कर,
वो बोला हम भले ही गधा हैं पर तू हमारी तरह शकल मत कर।
हमने कहा तू जानवर है और जानवर ही रह,
वो बोला भले ही तू इंसान है पर ऐसा मत कह।
हम जानवर होकर भी इंसान से बेहतर हैं ,
इंसान होकर भी भ्रष्टाचारी चोर रिश्वती आज के नर हैं ।
इंसान के इंसान होने से फायदा क्या है,
इंसान के कुकृत्यों से शर्मनाक ज्यादा क्या है।
हमारा इंसान को समर्पित होता कतरा-कतरा है,
इंसान इंसान और हम जानवरों के लिए भी खतरा है।
इंसान के कुकृत्यों से पृथ्वी भी शर्मशार है,
इंसान का मानव जाति के लिए भी नहीं प्यार है।
बास्तव में इंसान सृष्टि का सर्वश्रेष्ठ प्राणी ,
सम्पूर्ण सृष्टि हमेशा से इंसान की ऋणी है।
इंसान से होना चाहिए सभी का उपकार है,
तभी हो सकता सभी का उद्धार है।
इंसान होकर इंसानियत की वात कीजिए ,
अब वापस जाओ यहीं मत रात कीजिये ।
हमने बड़ी ही कृतज्ञता से गधे को धन्यवाद दिया ,
इस तरह बेसुरी आवाज़ में अपना गीत पूरा किया ।
रचयिता -डाँ0 तेज स्वरूप
भारद्वाज

1115 Views
You may also like:
कायनात के जर्रे जर्रे में।
Taj Mohammad
🔥😊 तेरे प्यार ने
N.ksahu0007@writer
बनकर कोयल काग
Jatashankar Prajapati
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
कविता क्या है ?
Ram Krishan Rastogi
शब्द बिन, नि:शब्द होते,दिख रहे, संबंध जग में।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
माँ बाप का बटवारा
Ram Krishan Rastogi
गीत - याद तुम्हारी
Mahendra Narayan
बहुआयामी वात्सल्य दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
माखन चोर
N.ksahu0007@writer
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Dr. Alpa H.
गांव शहर और हम ( कर्मण्य)
Shyam Pandey
💐प्रेम की राह पर-26💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ईद
Khushboo Khatoon
बुध्द गीत
Buddha Prakash
विश्व पुस्तक दिवस (किताब)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आजमाइशें।
Taj Mohammad
भारत के इतिहास में मुरादाबाद का स्थान
Ravi Prakash
अब ज़िन्दगी ना हंसती है।
Taj Mohammad
पापा
Kanchan Khanna
वृक्ष बोल उठे..!
Prabhudayal Raniwal
💐 ग़ुरूर मिट जाएगा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मां
हरीश सुवासिया
**जीवन में भर जाती सुवास**
Dr. Alpa H.
दिल की ख्वाहिशें।
Taj Mohammad
ये जिंदगी एक उलझी पहेली
VINOD KUMAR CHAUHAN
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
हे मात जीवन दायिनी नर्मदे हर नर्मदे हर नर्मदे हर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मां का आंचल
VINOD KUMAR CHAUHAN
मोहब्बत का समन्दर।
Taj Mohammad
Loading...