Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#6 Trending Author
Apr 11, 2022 · 1 min read

हाल ए इश्क।

तुम जिंदगी जीते हो बस अपने वास्ते।
इसीलिए अलग हो गए ये अपने रास्ते।।

हाल ए इश्क इक तरफा क्या पूछते हो।
पूछो उससे बर्बाद हुए है जिसके वास्ते।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

1 Like · 78 Views
You may also like:
✍️पुरानी रसोई✍️
"अशांत" शेखर
💐💐प्रेम की राह पर-14💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भावों उर्मियाँ ( कुंडलिया संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तन-मन की गिरह
Saraswati Bajpai
तुम हो फरेब ए दिल।
Taj Mohammad
चौपाई छंद में सौलह मात्राओं का सही गठन
Subhash Singhai
यही है भीम की महिमा
Jatashankar Prajapati
पिता
Aruna Dogra Sharma
मुरादाबाद स्मारिका* *:* *30 व 31 दिसंबर 1988 को उत्तर...
Ravi Prakash
दिल की आरजू.....
Dr. Alpa H. Amin
✍️जिंदगी✍️
"अशांत" शेखर
✍️दिल ही बेईमान था✍️
"अशांत" शेखर
इश्क़―की―आग
N.ksahu0007@writer
आपस में तुम मिलकर रहना
Krishan Singh
माँ तुम अनोखी हो
Anamika Singh
मिला है जब से साथ तुम्हारा
Ram Krishan Rastogi
दीये की बाती
सूर्यकांत द्विवेदी
खोकर के अपनो का विश्वास...। (भाग -1)
Buddha Prakash
'तुम भी ना'
Rashmi Sanjay
✍️घर में सोने को जगह नहीं है..?✍️
"अशांत" शेखर
मिल जाने की तमन्ना लिए हसरत हैं आरजू
Dr.sima
बदनाम दिल बेचारा है
Taj Mohammad
मन ही बंधन - मन ही मोक्ष
Rj Anand Prajapati
आज की नारी हूँ
Anamika Singh
एक पिता की जान।
Taj Mohammad
मां-बाप
Taj Mohammad
पिता अम्बर हैं इस धारा का
Nitu Sah
लड़ते रहो
Vivek Pandey
दाता
निकेश कुमार ठाकुर
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
Loading...