Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 3, 2016 · 1 min read

हाले दिल का दर्द(गजल)/मंदीप

हाले दिल का दर्द सुने कौन,
टूटे हुए दिल को जोड़ें कौन।

मिलता सिर्फ दर्द जिस जगह,
अब उस जगह जाये कौन,

मालूम नही मतलब प्यार का,
उस के साथ दिल लगाये कौन।

पता नही मोल आँसुओ का,
आँसू अब उन के लिए बहाये कौन।

आदत जिनकी दिल दुखने की,
अब आदत उसकी बदले कौन।

रो रो बहाती याद में आँखे आँसू,
अब आँसुओ को समझाये कौन।

जो चला गया छोड कर दामन ,
क्या हाल है “मंदीप” का उस को बताये कौन

मंदीपसाई

179 Views
You may also like:
मंज़िल
Ray's Gupta
यूं रो कर ना विदा करो।
Taj Mohammad
✍️एक ख़ता✍️
"अशांत" शेखर
पिता और एफडी
सूर्यकांत द्विवेदी
ताकि याद करें लोग हमारा प्यार
gurudeenverma198
आप कौन है
Sandeep Albela
तेरा नसीब बना हूं।
Taj Mohammad
लाशें बिखरी पड़ी हैं।(यूक्रेन पर लिखी गई ग़ज़ल)
Taj Mohammad
नुमाइश बना दी तुने I
Dr.sima
ग़ज़ल-ये चेहरा तो नूरानी है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ये सियासत है।
Taj Mohammad
इश्क के मारे है।
Taj Mohammad
✍️शब्दांच्या संवेदना...✍️
"अशांत" शेखर
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग४]
Anamika Singh
जहां चाह वहां राह
ओनिका सेतिया 'अनु '
दया करो भगवान
Buddha Prakash
बाबासाहेब 'अंबेडकर '
Buddha Prakash
वो
Shyam Sundar Subramanian
शिखर छुऊंगा एक दिन
AMRESH KUMAR VERMA
पिता, पिता बने आकाश
indu parashar
दलीलें झूठी हो सकतीं हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
खुश रहना
dks.lhp
तुम ख़्वाबों की बात करते हो।
Taj Mohammad
आपातकाल
Shriyansh Gupta
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
हर लम्हा।
Taj Mohammad
दिल-ए-रहबरी
Mahesh Tiwari 'Ayen'
*साधुता और सद्भाव के पर्याय श्री निर्भय सरन गुप्ता :...
Ravi Prakash
✍️KITCHEN✍️
"अशांत" शेखर
ऊपज
Mahender Singh Hans
Loading...