Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

हायकु

हायकु

कर्म की आस।
सुख की अनूभूति।
भक्ति की प्यास।(1)

सृष्टि अनंत।
है ब्रह्मांश आजन्म।
है पुनर्जन्म।(2)

ब्रह्म ही सत्य।
अहम जो असत्य।
शाश्वत तथ्य।(3)

सुखानुभूति।
है सनातन सत्य।
कर्मानुभूति।(4)

दुःख प्रवृत्ति।
मन की अनुभूति।
भावानुवृत्ति।(5)

डा.प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम

1 Like · 71 Views
You may also like:
एक जंग, गम के संग....
Aditya Prakash
दिले यार ना मिलते हैं।
Taj Mohammad
मौसम की तरह तुम बदल गए हो।
Taj Mohammad
“ विश्वास की डोर ”
DESH RAJ
जाको राखे साईयाँ मार सके न कोय
Anamika Singh
बस एक ही भूख
DESH RAJ
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
आजमाइशें।
Taj Mohammad
आशाओं की बस्ती
सूर्यकांत द्विवेदी
ज़िंदगी मयस्सर ना हुई खुश रहने की।
Taj Mohammad
हौसलों की उड़ान।
Taj Mohammad
नीति प्रकाश : फारसी के प्रसिद्ध कवि शेख सादी द्वारा...
Ravi Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️अश्क़ का खारा पानी ✍️
"अशांत" शेखर
ग्रीष्म ऋतु भाग २
Vishnu Prasad 'panchotiya'
पिता के चरणों को नमन ।
Buddha Prakash
** बेटी की बिदाई का दर्द **
Dr. Alpa H. Amin
चलो स्वयं से इस नशे को भगाते हैं।
Taj Mohammad
बसन्त बहार
N.ksahu0007@writer
प्रेम की साधना
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
$गीत
आर.एस. 'प्रीतम'
एहसासों के समंदर में।
Taj Mohammad
खींच तान
Saraswati Bajpai
**जीवन में भर जाती सुवास**
Dr. Alpa H. Amin
लोभ
AMRESH KUMAR VERMA
पहचान
Anamika Singh
अभागीन ममता
ओनिका सेतिया 'अनु '
"निर्झर"
Ajit Kumar "Karn"
रात चांदनी का महताब लगता है।
Taj Mohammad
गाँव की स्थिति.....
Dr. Alpa H. Amin
Loading...