Oct 4, 2016 · 1 min read

हाइकू

“हाइकू”
नव रजनी
नव रूप धारिणी
जै नव चंडी॥-1

भक्त अर्चना
कुशलम साधना
जै जगदंबा॥-2

पाठ आरती
महिमा सुभारती
जै नव दुर्गा॥-3

क्षमा दायिनी
शुभदा कात्यायनी
जै कृपालिनी॥-4

जग तारिणी
महिषासुर हंती
विंध्यवाशिनी॥-5

महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी

108 Views
You may also like:
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
इशारो ही इशारो से...😊👌
N.ksahu0007@writer
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
सच ही तो है हर आंसू में एक कहानी है
VINOD KUMAR CHAUHAN
Un-plucked flowers
Aditya Prakash
【31】{~} बच्चों का वरदान निंदिया {~}
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
राष्ट्रवाद का रंग
मनोज कर्ण
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
सुर बिना संगीत सूना.!
Prabhudayal Raniwal
मैं चिर पीड़ा का गायक हूं
विमल शर्मा'विमल'
पिता के जैसा......नहीं देखा मैंने दुजा
Dr. Alpa H.
दर्द भरे गीत
Dr.sima
💐प्रेम की राह पर-34💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मम्मी म़ुझको दुलरा जाओ..
Rashmi Sanjay
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
“मोह मोह”…….”ॐॐ”….
Piyush Goel
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
त्रिशरण गीत
Buddha Prakash
ग़ज़ल
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सौगंध
Shriyansh Gupta
क्या देखें हम...
सूर्यकांत द्विवेदी
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रेम की राह पर -8
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
श्रृंगार
Alok Saxena
यदि मेरी पीड़ा पढ़ पाती
Saraswati Bajpai
आज कुछ ऐसा लिखो
Saraswati Bajpai
जिंदगी जब भी भ्रम का जाल बिछाती है।
Manisha Manjari
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है। [भाग ७]
Anamika Singh
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग२]
Anamika Singh
हम एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...