Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jan 22, 2017 · 1 min read

हाइकु

महक जाओ
खुशबू लो मुझसे
कहा फूल ने
?सतीश राठी

154 Views
You may also like:
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
आदमी की आवाज हैं नागार्जुन
Ravi Prakash
अहसास
Vikas Sharma'Shivaaya'
पिता का सपना
श्री रमण
हाँ, अब मैं ऐसा ही हूँ
gurudeenverma198
कुत्ते भौंक रहे हैं हाथी निज रस चलता जाता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐 माये नि माये 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मजबूर ! मजदूर
शेख़ जाफ़र खान
पैसों का खेल
AMRESH KUMAR VERMA
पल
sangeeta beniwal
के के की याद में ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
मदिरा और मैं
Sidhant Sharma
“IF WE WRITE, WRITE CORRECTLY “
DrLakshman Jha Parimal
$प्रीतम के दोहे
आर.एस. 'प्रीतम'
चले आओ तुम्हारी ही कमी है।
सत्य कुमार प्रेमी
बनकर कोयल काग
Jatashankar Prajapati
मंदिर
जगदीश लववंशी
अश्रुपात्र ... A glass of tears भाग- 2 और 3
Dr. Meenakshi Sharma
मनमीत मेरे
Dr.sima
गांव का भोलापन ना रह गया है।
Taj Mohammad
तेरी नजरों में।
Taj Mohammad
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
प्रकृति के कण कण में ईश्वर बसता है।
Taj Mohammad
टेढ़ी-मेढ़ी जलेबी
Buddha Prakash
खोकर के अपनो का विश्वास ।....(भाग - 3)
Buddha Prakash
संताप
ओनिका सेतिया 'अनु '
ज़ुबान से फिर गया नज़र के सामने
कुमार अविनाश केसर
तन-मन की गिरह
Saraswati Bajpai
Loading...