“हाँ मैनें देखा है “

सत्य को हारते देखाहै,
दर्द को जीतते देखा है,
वक्त को बदलते देखाहै,
सम्मान का समर्पण देखाहै ,
रंग बदले गिरगिट देखा है,
हाँ!मैने छल- कपट देखा है,
देखा है सम्मान को रेंगते हुए,
अपमान पर अट्टाहास करते,
शिक्षा की अशिक्षा से पराजय,
देखा है मैने ज्ञान को मुखरित-
अज्ञान से हारते और बिलखते,
हाँ! मैने गुरुर को जीतते देखा है|
…निधि…

152 Views
You may also like:
Little baby !
Buddha Prakash
धूप कड़ी कर दी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मुक्तक ( इंतिजार )
N.ksahu0007@writer
परिंदों सा।
Taj Mohammad
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ७]
Anamika Singh
'तुम भी ना'
Rashmi Sanjay
हमको आजमानें की।
Taj Mohammad
एक दौर था हम भी आशिक हुआ करते थे
Krishan Singh
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
ये शिक्षामित्र है भाई कि इसमें जान थोड़ी है
आकाश महेशपुरी
बिछड़न [भाग २]
Anamika Singh
अँधेरा बन के बैठा है
आकाश महेशपुरी
जबसे मुहब्बतों के तरफ़दार......
अश्क चिरैयाकोटी
समुंदर बेच देता है
आकाश महेशपुरी
भारत के इतिहास में मुरादाबाद का स्थान
Ravi Prakash
रत्नों में रत्न है मेरे बापू
Nitu Sah
मुक्तक- जो लड़ना भूल जाते हैं...
आकाश महेशपुरी
बुद्ध भगवान की शिक्षाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐प्रेम की राह पर-25💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नदियों का दर्द
Anamika Singh
प्रारब्ध प्रबल है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
आपकी याद
Abhishek Upadhyay
पिता
Dr. Kishan Karigar
इशारो ही इशारो से...😊👌
N.ksahu0007@writer
पिता
Shankar J aanjna
तुम्हारी चाय की प्याली / लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
मत ज़हर हबा में घोल रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
** यकीन **
Dr. Alpa H.
💐💐धड़कता दिल कहे सब कुछ तुम्हारी याद आती है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...