Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-513💐

हाँ,मैं किसी के प्रेम में अन्धा नहीं हूँ।परन्तु मेरा प्रेम ईश्वर के प्रति अन्धा है।यह हँसता हुआ संसार ईश्वर का है और रोता हुआ मनुष्य का।इसमें ही प्रेम छिपा है।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
31 Views
You may also like:
तुमको ख़त में क्या लिखूं..?
तुमको ख़त में क्या लिखूं..?
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
आदमी चिकना घड़ा है...
आदमी चिकना घड़ा है...
डॉ.सीमा अग्रवाल
ग़ैरत ही होती तो
ग़ैरत ही होती तो
*Author प्रणय प्रभात*
*मां चंद्रघंटा*
*मां चंद्रघंटा*
Shashi kala vyas
🚩माँ, हर बचपन का भगवान
🚩माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मां बाप के प्यार जैसा  कहीं कुछ और नहीं,
मां बाप के प्यार जैसा कहीं कुछ और नहीं,
Satish Srijan
साइबर ठगी हाय रे, करते रहते लोग
साइबर ठगी हाय रे, करते रहते लोग
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हम उनसे नहीं है भिन्न
हम उनसे नहीं है भिन्न
जगदीश लववंशी
माँ की याद आती है ?
माँ की याद आती है ?
Tarun Prasad
परछाई
परछाई
डॉ प्रवीण ठाकुर
ठोकर भी बहुत जरूरी है
ठोकर भी बहुत जरूरी है
Anil Mishra Prahari
पति-पत्नी, परिवार का शरीर होते हैं; आत्मा तो बच्चे और बुजुर्
पति-पत्नी, परिवार का शरीर होते हैं; आत्मा तो बच्चे और बुजुर्
विमला महरिया मौज
जनगणना मे मैथिली / Maithili in Population Census / जय मैथिली
जनगणना मे मैथिली / Maithili in Population Census / जय मैथिली
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
फेसबूक के पन्नों पर चेहरे देखकर उनको पत्र लिखने का मन करता ह
फेसबूक के पन्नों पर चेहरे देखकर उनको पत्र लिखने का मन करता ह
DrLakshman Jha Parimal
ज़रा सी बात पे तू भी अकड़ के बैठ गया।
ज़रा सी बात पे तू भी अकड़ के बैठ गया।
सत्य कुमार प्रेमी
याद तो हैं ना.…...
याद तो हैं ना.…...
Dr Manju Saini
गांधी जी का चौथा बंदर
गांधी जी का चौथा बंदर
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
मेरी माँ तू प्यारी माँ
मेरी माँ तू प्यारी माँ
Vishnu Prasad 'panchotiya'
भीड़ का अनुसरण नहीं
भीड़ का अनुसरण नहीं
Dr fauzia Naseem shad
होली है!
होली है!
Dr. Shailendra Kumar Gupta
भगतसिंह मरा नहीं करते
भगतसिंह मरा नहीं करते
Shekhar Chandra Mitra
You know ,
You know ,
Sakshi Tripathi
ऐसा भी नहीं
ऐसा भी नहीं
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
चांद ने सितारों से कहा,
चांद ने सितारों से कहा,
Radha jha
किसको फुर्सत है रखी, किसको रोता कौन (हास्य कुंडलिया)
किसको फुर्सत है रखी, किसको रोता कौन (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
💐प्रेम कौतुक-234💐
💐प्रेम कौतुक-234💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जीवन एक सफर है, इसे अपने अंतिम रुप में सुंदर बनाने का जिम्मे
जीवन एक सफर है, इसे अपने अंतिम रुप में सुंदर बनाने का जिम्मे
Sidhartha Mishra
रंग भरी एकादशी
रंग भरी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नववर्ष
नववर्ष
Vandana Namdev
उस दर्द की बारिश मे मै कतरा कतरा बह गया
उस दर्द की बारिश मे मै कतरा कतरा बह गया
'अशांत' शेखर
Loading...