Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-209💐

हर सवाल के ज़बाब हैं आप पूछिये,
इक उनके सवाल को छोड़कर।।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
119 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
*भरत राम के पद अनुरागी (चौपाइयॉं)*
*भरत राम के पद अनुरागी (चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
छुपा रखा है।
छुपा रखा है।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
“ सभक शुभकामना बारी -बारी सँ लिय ,आभार व्यक्त करबा बेर नागड़ि अपन झाड़ि लिय ”
“ सभक शुभकामना बारी -बारी सँ लिय ,आभार व्यक्त करबा बेर नागड़ि अपन झाड़ि लिय ”
DrLakshman Jha Parimal
जब मैं तुमसे प्रश्न करूँगा,
जब मैं तुमसे प्रश्न करूँगा,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
हम तुम्हें खुद में
हम तुम्हें खुद में
Dr fauzia Naseem shad
मातु भवानी
मातु भवानी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मिसाल (कविता)
मिसाल (कविता)
Kanchan Khanna
कई चेहरे होते है।
कई चेहरे होते है।
Taj Mohammad
अतिथि तुम कब जाओगे
अतिथि तुम कब जाओगे
Gouri tiwari
जब तुम आए जगत में, जगत हंसा तुम रोए।
जब तुम आए जगत में, जगत हंसा तुम रोए।
Dr MusafiR BaithA
राजस्थान की पहचान
राजस्थान की पहचान
Shekhar Chandra Mitra
-- मृत्यु जबकि अटल है --
-- मृत्यु जबकि अटल है --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
ओस की बूँदें - नज़्म
ओस की बूँदें - नज़्म
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
कर्ज
कर्ज
Vikas Sharma'Shivaaya'
बसंत का मौसम
बसंत का मौसम
Awadhesh Kumar Singh
All I want to say is good bye...
All I want to say is good bye...
Abhineet Mittal
भक्ति -गजल
भक्ति -गजल
rekha mohan
" जंगल की दुनिया "
Dr Meenu Poonia
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
बुन रही सपने रसीले / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
माँ गंगा
माँ गंगा
Anamika Singh
💐प्रेम कौतुक-227💐
💐प्रेम कौतुक-227💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बाहों में तेरे
बाहों में तेरे
Ashish Kumar
आकाश भेद पथ पर पहुँचा, आदित्य एल वन सूर्ययान।
आकाश भेद पथ पर पहुँचा, आदित्य एल वन सूर्ययान।
जगदीश शर्मा सहज
जिम्मेदारियाॅं
जिम्मेदारियाॅं
Paras Nath Jha
तुम गैर कबसे हो गए ?...
तुम गैर कबसे हो गए ?...
ओनिका सेतिया 'अनु '
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
दोस्ती
दोस्ती
Kanchan sarda Malu
कोई इंसान अगर चेहरे से खूबसूरत है
कोई इंसान अगर चेहरे से खूबसूरत है
ruby kumari
सागर सुखा है अपनी मर्जी से..
सागर सुखा है अपनी मर्जी से..
कवि दीपक बवेजा
अपनी गजब कहानी....
अपनी गजब कहानी....
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...