Jun 12, 2019 · 1 min read

हर तरह ज़िन्दगी से निभाना पड़ा

हर तरह ज़िन्दगी से निभाना पड़ा
हौसलों को सहारा बनाना पड़ा

ज़िन्दगी ने दिया ,तो लिया भी बहुत
हमको हर हाल में मुस्कुराना पड़ा

हमने तो दिल पे तेरा लिखा नाम बस
जख्म बनते गये जब मिटाना पड़ा

बन गया तेरी यादों का दिल में जो घर
तेरे बिन आंसुओं से सजाना पड़ा

दर्द का बन न जाये फसाना तभी
आँसुओं को खुशी के बताना पड़ा

मिल रहे अब हमें दर्द कितने नये
‘अर्चना’ भारी दिल ये लगाना पड़ा

11-06-2019
डॉ अर्चना गुप्ता
मुरादाबाद

2 Likes · 141 Views
You may also like:
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एक सच्चे इंसान थे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ब्रेकिंग न्यूज़
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता का महत्व
ओनिका सेतिया 'अनु '
इंसाफ हो गया है।
Taj Mohammad
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
*सादा जीवन उच्च विचार के धनी कविवर रूप किशोर गुप्ता...
Ravi Prakash
कभी मिट्टी पर लिखा था तेरा नाम
Krishan Singh
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
वसंत का संदेश
Anamika Singh
ख्वाब
Swami Ganganiya
पिता के होते कितने ही रूप।
Taj Mohammad
सितम पर सितम।
Taj Mohammad
घर
पंकज कुमार "कर्ण"
तुम मेरे वो तुम हो...
Sapna K S
# बोरे बासी दिवस /मजदूर दिवस....
Chinta netam मन
-:फूल:-
VINOD KUMAR CHAUHAN
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
श्रेय एवं प्रेय मार्ग
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नीति के दोहे
Rakesh Pathak Kathara
Blessings Of The Lord Buddha
Buddha Prakash
चंदा मामा
Dr. Kishan Karigar
मज़दूर की महत्ता
Dr. Alpa H.
भोपाल गैस काण्ड
Shriyansh Gupta
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
न तुमने कुछ न मैने कुछ कहा है
ananya rai parashar
हवलदार का करिया रंग (हास्य कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
परिवार दिवस
Dr Archana Gupta
Loading...