Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jul 2016 · 1 min read

हया में लिपटा ….

हया में लिपटा ….

तन्हाई में तूने जब खुद को संवारा होगा
यकीनन तेरे ज़हन में अक़्स हमारा होगा
ज़ुल्फ़ ने जब रुख़ से शरारत की होगी
हया में लिपटा लब पे नाम हमारा होगा

सुशील सरना

Language: Hindi
Tag: मुक्तक
1 Comment · 172 Views
You may also like:
बच्चों को भी भगवान का ही स्वरूप माना जाता है...
पीयूष धामी
ब्राउनी (पिटबुल डॉग) की पीड़ा
ओनिका सेतिया 'अनु '
जानें किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
गाँव की साँझ / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
गुरुवर
AMRESH KUMAR VERMA
हम कहां आप जैसे
Dr fauzia Naseem shad
Accept the mistake
Buddha Prakash
बहाना क्यूँ बनाते हो (जवाब -1)
bhandari lokesh
द्विराष्ट्र सिद्धान्त के मुख्य खलनायक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सागर ही क्यों
Shivkumar Bilagrami
सुन लो, मर्दों!
Shekhar Chandra Mitra
पिता एक विश्वास - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
तिरंगा जान से प्यारा
Dr. Sunita Singh
चढ़ता पारा
जगदीश शर्मा सहज
🙋बाबुल के आंगन की चिड़िया🙋
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
अमृत महोत्सव मनायेंगे
नूरफातिमा खातून नूरी
तिरंगा लगाना तो सीखो
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
* चांद बोना पड गया *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
धन्वंतरि पूजा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दुआ
Alok Saxena
*कृष्ण जानो अवतारी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
जब तुमने सहर्ष स्वीकारा है!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
बेवफा अपनों के लिए/Bewfa apno ke liye
Shivraj Anand
मोरे सैंया
DESH RAJ
✍️विश्वरत्न बाबासाहब को कोटि कोटि प्रणाम
'अशांत' शेखर
न कोई जगत से कलाकार जाता
आकाश महेशपुरी
पंजाबी गीत
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
#होई_कइसे_छठि_के_बरतिया-----?? (मेलोडी)
संजीव शुक्ल 'सचिन'
✴️✳️हर्ज़ नहीं है मुख़्तसर मुलाकात पर✳️✴️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नहीं छिपती
shabina. Naaz
Loading...