Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-500💐

हमें शर्म-ओ-हया नहीं है,उन्हें कहेंगे अपना,
बे-एतिबार कह दें,तो भी उन्हें कहेंगे अपना,
नवाज़िश है उनकी,हर लफ़्ज़ कम पड़ेगा,
दिल धड़कना छोड़ दे तो भी कहेंगे अपना।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
30 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
बेटियां तो बस बेटियों सी होती है।
बेटियां तो बस बेटियों सी होती है।
Taj Mohammad
वृक्षों का रोपण करें, रहे धरा संपन्न।
वृक्षों का रोपण करें, रहे धरा संपन्न।
डॉ.सीमा अग्रवाल
मां के आँचल में
मां के आँचल में
Satish Srijan
एक तू ही नहीं बढ़ रहा , मंजिल की तरफ
एक तू ही नहीं बढ़ रहा , मंजिल की तरफ
कवि दीपक बवेजा
झूमका
झूमका
Shekhar Chandra Mitra
बुलेट ट्रेन की तरह है, सुपर फास्ट सब यार।
बुलेट ट्रेन की तरह है, सुपर फास्ट सब यार।
सत्य कुमार प्रेमी
इश्क़ का दस्तूर
इश्क़ का दस्तूर
VINOD KUMAR CHAUHAN
#सामयिक_सलाह
#सामयिक_सलाह
*Author प्रणय प्रभात*
चलो चलें वहां जहां मिले ख़ुशी
चलो चलें वहां जहां मिले ख़ुशी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सुप्रभात
सुप्रभात
Arun B Jain
=====
=====
AJAY AMITABH SUMAN
किसको फुर्सत है रखी, किसको रोता कौन (हास्य कुंडलिया)
किसको फुर्सत है रखी, किसको रोता कौन (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
मन खामोश है
मन खामोश है
Surinder blackpen
तुम्ही हो किरण मेरी सुबह की
तुम्ही हो किरण मेरी सुबह की
gurudeenverma198
कहाँ से लाऊँ वो उम्र गुजरी हुई
कहाँ से लाऊँ वो उम्र गुजरी हुई
डॉ. दीपक मेवाती
इस दौर में सुनना ही गुनाह है सरकार।
इस दौर में सुनना ही गुनाह है सरकार।
Dr. ADITYA BHARTI
बावरी
बावरी
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
🪔🪔दीपमालिका सजाओ तुम।
🪔🪔दीपमालिका सजाओ तुम।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
हमको जो समझें
हमको जो समझें
Dr fauzia Naseem shad
दोस्ती
दोस्ती
Rajni kapoor
अभागा
अभागा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
अब भी वही तेरा इंतजार करते है
अब भी वही तेरा इंतजार करते है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
कहीं और हँसके खुशियों का इज़हार करते हैं ,अपनों से उखड़े रहकर
कहीं और हँसके खुशियों का इज़हार करते हैं ,अपनों से उखड़े रहकर
DrLakshman Jha Parimal
तारिक़ फ़तह सदा रहे, सच के लंबरदार
तारिक़ फ़तह सदा रहे, सच के लंबरदार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
किस्मत की लकीरें
किस्मत की लकीरें
डॉ प्रवीण ठाकुर
अभी तो साथ चलना है
अभी तो साथ चलना है
Vishal babu (vishu)
बुद्ध भक्त सुदत्त
बुद्ध भक्त सुदत्त
Buddha Prakash
अंदर का चोर
अंदर का चोर
Shyam Sundar Subramanian
शुद्ध
शुद्ध
Dr.Priya Soni Khare
Loading...