Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#11 Trending Author
Jun 23, 2022 · 1 min read

हमारी धरती

हरी-भरी हमारी यह धरती
कितनी सुंदर है दिखती
पेड़- पौधे यह जंगल सारे
तालाब नदियाँ यह झरने
सब हमारा मन है मोहती ।

पेड़ हमें देता है फूल
जिसकी खूशबू मन को भांति
पेड़ हमें देता है फल
जिसे स्वाद हम ले लेकर है खाते
पेड़ हमे लकड़ी देता
जिसको हम काम में लाते।

नदियाँ देता निर्मल पानी
जो पीने के है काम में आते
झरने के पानी का भी हम
खूब मजे से लुफ्त उठाते
नदियाँ और तालाब के पानी
खेती के भी काम में आते।

धरती ने दिये है हमें
कई सारे अनमोल रत्न
जिसका वह एक पैसा
हमसे नही लेती
आओ बचाएँ हम धरती के
इस धरोहर को
यह बात हमें माँ समझाती।

~अनामिका

4 Likes · 4 Comments · 84 Views
You may also like:
💐भगवतः स्मृति: च सेवा च महत्ववान्💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
.✍️आशियाना✍️
'अशांत' शेखर
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"एक अत्याचार"
पंकज कुमार "कर्ण"
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बचपन की यादें।
Anamika Singh
अल्फाज़ ए ताज भाग-1
Taj Mohammad
सही-ग़लत का
Dr fauzia Naseem shad
इश्क की आग।
Taj Mohammad
बालू का पसीना "
Dr Meenu Poonia
पिता का प्रेम
Seema gupta ( bloger) Gupta
दोस्ती का एहसास होता है
Dr fauzia Naseem shad
Time never returns
Buddha Prakash
'विश्व जनसंख्या दिवस'
Godambari Negi
अश्रुपात्र... A glass of tears भाग - 4
Dr. Meenakshi Sharma
“श्री चरणों में तेरे नमन, हे पिता स्वीकार हो”
Kumar Akhilesh
गम देके।
Taj Mohammad
लघुकथा: ऑनलाइन
Ravi Prakash
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
कोई मंझधार में पड़ा हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
बेपनाह गम था।
Taj Mohammad
तुम मेरी हो...
Sapna K S
वेदना के अमर कवि श्री बहोरन सिंह वर्मा प्रवासी*
Ravi Prakash
पैसा बोलता है...
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
धूप में साया।
Taj Mohammad
दर्द की कलम।
Taj Mohammad
कविता को बख्श दो कारोबार मत बनाओ।
सत्य कुमार प्रेमी
*"याचना"*
Shashi kala vyas
Loading...