Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#3 Trending Author
May 15, 2022 · 1 min read

हमारी जां।

बेकार ही रंग लिए तुमने,
अपने हाथ मेरे खून से।

मांग लेते हमसे हमारी जां,
हम दे देते सुकून से।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

2 Likes · 4 Comments · 82 Views
You may also like:
A pandemic 'Corona'
Buddha Prakash
*आत्मा का स्वभाव भक्ति है : कुरुक्षेत्र इस्कॉन के अध्यक्ष...
Ravi Prakash
themetics of love
DR ARUN KUMAR SHASTRI
लाशें बिखरी पड़ी हैं।(यूक्रेन पर लिखी गई ग़ज़ल)
Taj Mohammad
इच्छाओं का घर
Anamika Singh
【1】 साईं भजन { दिल दीवाने का डोला }
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
तू हैं शब्दों का खिलाड़ी....
Dr.Alpa Amin
राजनीति ओछी है लोकतंत्र आहत हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:36
AJAY AMITABH SUMAN
रोना भी बहुत जरूरी है।
Taj Mohammad
उपदेश से तृप्त किया ।
Buddha Prakash
तेरा जां निसार।
Taj Mohammad
साथ भी दूंगा नहीं यार मैं नफरत के लिए।
सत्य कुमार प्रेमी
लोभ का जमाना
AMRESH KUMAR VERMA
पुरी के समुद्र तट पर (1)
Shailendra Aseem
✍️तर्क✍️
"अशांत" शेखर
मुझसे पहले क्या किसी ने
gurudeenverma198
हर रास्ते की अपनी इक मंजिल होती है।
Taj Mohammad
परदा उठ जाएगा।
Taj Mohammad
गर्दिशे दौरा को गुजर जाने दे
shabina. Naaz
इंतजार
Anamika Singh
दाम रिश्तों के
Dr fauzia Naseem shad
घर आंगन
शेख़ जाफ़र खान
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
इश्क का गम।
Taj Mohammad
तनिक पास आ तो सही...!
Dr. Pratibha Mahi
जय जय इंडियन आर्मी
gurudeenverma198
स्याह रात ने पंख फैलाए, घनघोर अँधेरा काफी है।
Manisha Manjari
Think
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Loading...